आयुर्वेदिक अंडा: अब वेजिटेरियन लोग भी खा सकेंगे अंडा.. सफेद नहीं गुलाबी होगा रंग, कीमत भी कम

दोस्तों अब मुर्गियां सिर्फ नॉन वेजिटेरियन्स लोगों की भूख नहीं बल्कि वेजिटेरियन के भूख का इलाज कर सकती हैं। बाजार में जल्द ही आयुर्वेदिक अंडा आने वाला है, जो शाकाहारियों की सेहत के लिए भी वरदान साबित होगा। मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय में आयुर्वेदिक अंडे को लेकर अनोखी रिसर्च हो रही है। ये अंडे न सिर्फ पेट भरेंगे बल्कि सेहत का भी ख्याल रखेंगे।

मेरठ सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विवि में आयुर्वेदिक अंडों को लेकर अनोखी रिसर्च चल रही है। आयुर्वेदिक अंडों के उत्पादन की ओर कदम बढ़ाते हुए मेरठ के कृषि विवि ने संभावनाओं के कई द्वार खोले हैं। सामान्य तौर पर मुर्गियों का अंडा सफेद होता है, लेकिन इस प्रक्रिया में तैयार अंडा गुलाबी होगा।

ये अंडा कैसे है आयुर्वेदिक

विश्वविद्यालय के कुक्कुट अनुसंधान और प्रशिक्षण केन्द्र के प्रभारी डॉक्टर डीके सिंह ने बताया कि इन अंडों को आयुर्वेदिक अंडा इसलिए कहा जा रहा है, क्योंकि इस प्रक्रिया में मुर्गियों को जो आहार दिया जाता है, उसमें आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है। उन्होंने बताया कि मुर्गियों को आहार चार्ट के अनुरूप दिया जाता है।

क्या होगी कीमत

जानकारी के मुताबिक, इस आयुर्वेदिक अंडे की कीमत 23 से 24 रुपए तक हो सकती है, जबकि विश्वविद्यालय की हेचरी में इसकी कीमत बारह से पन्द्रह रुपए होगी। विश्वविद्यालय के कुक्कुट अनुसंधान और प्रशिक्षण केन्द्र के प्रभारी डॉक्टर डी.के सिंह ने बताया कि आयुर्वेदिक अंडे में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, जो मछलियों में पाया जाता है। ये एनीमिया और कुपोषण के शिकार से बचाएगा। ये मस्तिष्क और हृदय के लिए भी लाभकारी होगा।

Facebook Comments