एक ही घर में अलग-अलग कमरे में सोते थे पति-पत्नी…महिला डॉक्टर ने किया सुसाइड

अडाजन में शुक्रवार शाम एक महिला डॉक्टर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्राप्त जानकारी के अनुसार- अडाजन पुलिस थाने के पास स्थित शिव कुटीर सोसाइटी के बंगला नंबर-1 निवासी मनाली चिंतन पटेल (29) ने शुक्रवार शाम 5 बजे के करीब घर के दूसरी मंजिल के रूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह केपी संघवी अस्पताल में पोस्टेड थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसारबीएचएमएस की डिग्री प्राप्त करने के बाद 2013 में उसने डॉ. चिंतन पटेल से शादी की थी। डॉ. चिंतन पटेल भी पालनपुर पाटिया के मां एंड बेबी अस्पताल में डॉक्टर हैं। बताया जाता है कि वह पिछले कई दिनों से ससुराल वालों के व्यवहार से दुखी थी।

Ind vs NZ 5th ODI Team Prediction: पांचवें वनडे में खेलेंगे धोनी, जानिए क्या हो सकती है प्लेइंग XI

पुलिस ने शव को पोस्ट मार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया। परिजनाें के अनुसार- वह लंबे समय से डिप्रेशन में थी। मनाली को उसके ससुराल वाले पिछले 6 साल से मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। प्रताड़ित करने वालों में पति, सास-ससुर के अलावा ननद-ननदोई भी शामिल है।

पति-पत्नी एक ही घर में रहने के बावजूद अलग-अलग कमरे में सोते थे। पत्नी पर तलाक के लिए दबाव डाला जा रहा था। उसके मौसा भरत पटेल ने बताया कि उसका ननदोई मजाक उड़ाता था। इससे परेशान होकर मनाली ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की

डॉ. मनाली पटेल द्वारा आत्महत्या किए जाने के बाद उसकी मौसी की बेटी उर्मी वे बताया कि उसने सुसाइड नोट लिखा था और अपने भाई को वाट्स अप मैसेज भी किया था। यद्यपि भाई का नंबर बंद होने से मैसेज सेंड नहीं हो सका था। पुलिस ने मनाली का मोबाइल कब्जे में लेकर जांच शुरू की है।

मनाली ने सुसाइड में पति को संबोधित कर लिखा है कि मेरी मौत के बाद मुझे हाथ न लगाए और न ही कोई विधि करे। उर्मी ने बताया कि पति-पत्नी के बीच समाधान के कई प्रयास किए थे, लेकिन ससुराल वालों ने प्रताड़ित करना जारी रखा था। हालांकि, दोनों के बीच किस बात को लेकर विवाद था, इसका खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है।

Facebook Comments