कर्नाटक बना चैंपियन, मयंक अग्रवाल ने खेली तूफानी पारी

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में भारत के लिए टेस्‍ट डेब्‍यू करने करने वाले मयंक अग्रवाल (57 गेंदों पर नाबाद 85 रन) ने धमाकेदार पारी खेलते हुए सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी में कर्नाटक को चैंपियन बना दिया. कर्नाटक ने फाइनल में महाराष्‍ट्र को नौ गेंद शेष रहते आठ विकेट से पराजित किया. विजेता टीम के लिए रोहन कदम ने भी धमाकेदार अर्धशतकीय पारी खेली. रोहन ने 39 गेंदों पर ताबड़तोड़ 60 रन बनाए. कर्नाटक के सामने जीत के लिए 156 रन का लक्ष्य था, जिसे अग्रवाल और कदम (39 गेंदों पर 60) रन के बीच दूसरे विकेट के लिये 92 रन की साझेदारी की मदद से उसने 18.3 ओवर में दो विकेट पर हासिल कर लिया.
महाराष्ट्र ने पहले बैटिंग का न्यौता मिलने पर नौशाद शेख (41 गेंदों पर नाबाद 69 रन) के अर्धशतक से चार विकेट पर 155 रन बनाए. अभिमन्यु मिथुन कर्नाटक के सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने 24 रन देकर दो विकेट लिए. यह पहला अवसर है जबकि कर्नाटक ने यह राष्ट्रीय टी20 टूर्नामेंट का खिताब जीता जबकि महाराष्ट्र दूसरी बार ट्रॉफी जीतने में नाकाम रहा. उसने 2009-10 में खिताब अपने नाम किया था. कर्नाटक ने टी20 में लगातार 14वीं जीत दर्ज करके भारतीय रिकॉर्ड की बराबरी की. कोलकाता नाइटराइडर्स के नाम पर भी लगातार 14 जीत का रिकॉर्ड है. कर्नाटक छठी टीम है जिसने तीनों प्रारूपों की राष्ट्रीय चैंपियनशिप रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक ट्रॉफी जीती है. चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का सामना कर रहे कर्नाटक ने बीआर शरत (दो) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन इसके बाद कदम और अग्रवाल ने पूरी जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी की तथा रन गति पर असर नहीं पड़ने दिया. अग्रवाल ने बायें हाथ के स्पिनर सत्यजीत बाचव के एक ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाकर इसकी शुरुआत की लेकिन कदम ने इसके बाद अधिक तेजी दिखाई. कदम अर्धशतक पूरा करने के बाद दिव्यांग हिमांगकर की गेंद पर मिडविकेट पर कैच दे बैठे. उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाए. अग्रवाल ने इसके बाद 37 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया . उनकी पारी में छह चौके और तीन छक्के शामिल रहे.

Facebook Comments