किरण बेदी के खिलाफ उतरे पांडुचेरी के CM, राजनिवास के सामने डाला डेरा

पांडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायामस्वामी और उपराज्यपाल किरण बेदी की बीच फिर एक बार विवाद शुरू हो गया ,मुख्यमंत्री और उनके विधयाक ,बेदी पर आरोप लगा रहे है की वो पांडुचेरी सरकार के व्यापार नियम, 1993 के खिलाफ काम कर रही है. जिसका विरोध करते हुए मुख्यमंत्री, उपराज्यपाल के निवास स्थान के बाहर ही धरना प्रदर्शन करने लगे। वही मुख्यमंत्री राजनिवास के बहार सोने की एक फोटो ट्वीट की। फोटो में उनके साथ कांग्रेस और डीएमके विधायक भी नज़र आ रहे है। वहीँ विवाद गहरा होने का दूसरा कारण भी बताया जा रहा की किरण बेदी ने पांडुचेरी में दोपहिया वाहन सवारों पर हेलमेट पहनना अनिवार्य कर दिया है. वहीँ मुख्यमंत्री का कहना है, इसको चरणबद्ध तरीके से लागू करना चाहिए, इससे पहले लोगो को इस बारे में जागरूक तो किया जाये।

काम रोक रही है किरण बेदी

वही मुख्यमंत्री का आरोप है की बेदी काम करने से रोक रही है ,उनके पास जो भी फाइल जा रही है वो उनको ख़ारिज करते हुए सरकारी योजनाओ को नुक्सान के साथ साथ उसनमे देरी करवा रही है। वही मुख्यमंत्री ने आक्रामक रूप अपनाते हुए कहा की बेदी, मुफ्त चावल बाटने की योजना सहित 39 सरकारी प्रस्तावों को लटकाये हुए है। जिसके विलम्ब से सरकारी व्यवस्थाओ को नुक्सान पहुंच रहा है. उनके इस रवैये से नाराज़ मुख्यमंत्री और उनके सहयोगियों ने काली शर्ट में राजनिवास के बहार धरना प्रदर्शन करने बैठ गया। मुख्यमंत्री ने बाद में पत्रकारों से बाद करते हुए कहा की ‘गरीबों एवं जरूरतमंदों के हित के लिये सरकारी प्रस्तावों को लगातार खारिज किये जाने” पर वह कड़ा विरोध जताते हैं.

बेदी का इंकार

वहीँ बेदी ने इन् सभी बातो से इंकार करते हुए दुःख जताया की मुख्यमंत्री अपने पत्र का जवाब का इंतेज़ार किये बैगैर राजनिवास पर धरना देने आ गए, हलांकि बेदी ने बताया की वो मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर, 21 फरवरी को 10 बजे अपने राजनिवास मिलने बुलाया है. और कहा की मुख्यमंत्री को अपने पत्र का जवाब मिलने तक इंतज़ार करना चाहिए। ये तरीका उनको शोभा नहीं देता।

Facebook Comments