खाना कैसे है ये जान लें…बल्ड प्रेशर, लीवर जैसी 20 बीमारियों का खात्मा कर देता है गुड़ का लड्डू

मकर संक्रांति का त्योहार हिंदुओं के प्रमुख पर्वों में से एक है। इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं और अच्छे दिनों की शुरुआत होती है, जिससे मांग्लिक कार्यों का आरंभ होता है।

इस दिन तिल और गुड़ के लड्डू खाने का विशेष महत्व है। ये खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ कई गुणों से भी भरपूर होते हैं। तिल में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, अमीनो एसिड, ऑक्जेलिक एसिड, विटामिन बी, सी और ई होता है। वहीं गुड़ में सुक्रोज, ग्लूकोज और खनिज तरल पाए जाते हैं।

फेफड़े हमारे शरीर का अहम हिस्सा हैं, जो हमारे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं। तिल के लड्डू फेफड़ों के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। तिल फेफड़ों में विषैले पदर्थों के प्रभाव को करने का भी काम करता है। तिल के लड्डू खाने से शरीर को भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है। इसकी तासीर गर्म होने के कारण ये हड्डियों के लिए बहुत गुणकारी होता है। ठंड में इसे खाने के खास फायदे होते हैं, क्योंकि इसे खाने से शरीर को ठंड से लड़ने की ताकत मिलती है।

तिल का लड्डू पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसे खाने से एसिडिटी में भी राहत मिलती है। तिल-गुड़ के लड्डू गैस, कब्ज जैसी बीमारियों को भी दूर करने में मदद करते हैं। तिल के लड्डू भूख बढ़ाने में भी मदद करते हैं। तिल का लड्डू एनर्जी से भरपूर होता है। ये शरीर में खून की मात्रा को भी बढ़ाने में मदद करता है।

सूखे मेवे और घी से बनाए गए तिल के लड्डुओं को खाने से बालों और स्किन में चमक आती है। तिल के लड्डू खाने से शारीरिक ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। इसे खाने से शरीर की कमजोरी खत्म होती है। साथ ही यह डिप्रेशन और टेंशन से निजात दिलाने में भी मददगार होता है।

Facebook Comments