धोनी के नाम दर्ज है यह अनोखा रिकॉर्ड!

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बारे में आज हम आपको एक ऐसी बात बताएंगे जिसे सुनके आप सभी को गर्व महसूस होगा। धोनी इस समय भारत के लिए सिर्फ रंगीन कपड़ों में खेलते हुए नजर आते हैं। धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लिया है। धोनी उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से जिन्होंने वनडे क्रिकेट के इतिहास में 10000 से ज्यादा रन बनाये हैं। और आज हम आपको महेंद्र सिंह धोनी के वनडे करियर से जुड़े एक बहुत ही लाजवाब तथ्य के बारे में बताते हैं।

धोनी ने वनडे क्रिकेट में अपना पदार्पण साल 2003 में किया था। उसके बाद से धोनी को कभी भी उनके खराब प्रदर्शन की वजह से टीम से बाहर नहीं होना पड़ा। धोनी को भारतीय टीम की कप्तानी भी सौंपी गई साल 2007 में। धोनी ने न सिर्फ एक खिलाड़ी बल्कि एक कप्तान के तौर पर भी भारत को काफी तरक्की करवाई। 

आइये हम आपको बताते है कि आखिर वो क्या तथ्य है जो धोनी को इतना खास बनाता है। दरअसल जब धोने ने वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया था उसके तीन साल बाद साल 2006 में पहली बार वनडे की टॉप टेन रैंकिंग में शामिल हुए और पते की बात ये है कि उसके बाद लगातार 10 साल तक वो टॉप टेन से कभी बाहर नहीं हुए। जी हां साल 2016 में पहली बार 2006 के बाद उनकी रैंकिंग टॉप टेन से से हटके 13वें नंबर पर पहुँची। 2006 में वो 2 नंबर पर थे 2007 में 7वे 2008 में 9वें 2009 और 2010 में पहले स्थानपर। 2011 में 5वें 2012 और 2013 में 4 2014 में 6 और 2015 में आठवें स्थान पर। 10 सालों तक टॉप टेन में रहने का रिकॉर्ड धोनी के अलावा और किसी बल्लेबाज के नाम नहीं है।

Facebook Comments