बोले- कंधे से कंधा मिलाकर ममता के साथ हैं…ममता बनर्जी को मिला राहुल गांधी का साथ

चिटफट मामले में सीबीआई की कार्यवाई के खिलाफ धरने पर बैठी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का साथ मिला है। उन्होंने ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार को फासीवादी सरकार बताकर आड़े हाथों लिया है। बता दें कि रविवार को सीबीआई चिटफट मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची थी। हालत उस वक़्त ख़राब हो गए जब बिना वारंट के गयी सीबीआई को कोलकाता पुलिस अधिकारियों ने ही हिरासत में ले लिया। राज्य सरकार और अपनी गरिमा पर हमला बताते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने पर बैठ गयीं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ममता बनर्जी के धरने का समर्थन किया है। उन्होंने रविवार को अपने ट्वीट में कहा कि बंगाल में जो घटना हुई है वो नरेन्द्र मोदी और बीजेपी द्वारा देश के संस्थानों पर किये गए दुर्भावनापूर्ण हमले का एक हिस्सा है। उन्होंने ममता बनर्जी का साथ देते हुए कहा कि पूरा विपक्ष इस फासीवादी सरकार के खिलाफ खड़ा होगा और बुरी तरह परास्त करेगा।

गौरतलब है कि चिटफंड मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ की सीबीआई की कोशिश के खिलाफ रविवार रात ममता बनर्जी धरने पर बैठ गयीं। इससे केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के बीच जबर्दस्त टकराव पैदा हो गया है। ममता ने कहा कि मोदी सरकार ने ‘संविधान और संघीय ढांचे’ की भावना का गला घोंट दिया। इस बीच, कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे पर ममता के समर्थन में उतर आई हैं।

इस ‘अपमान’ के विरोध में स्थानीय मेट्रो सिनेमा के सामने धरने पर बैठीं ममता और मोदी सरकार के बीच यह नाटकीय घटनाक्रम उस समय शुरू हुआ, जब कोलकाता कमिश्नर से पूछताछ के लिए उनके आवास पर गई सीबीआई अधिकारियों की टीम को वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने अंदर जाने से रोक दिया। इसके बाद कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के कुछ अधिकारियों को हिरासत में भी ले लिया।

बता दें कि साल 2006 में भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सिंगूर आंदोलन के दौरान इसी स्थान पर धरना दिया था। तब धरना लेफ्ट सरकार के खिलाफ था, वह 26 दिनों तक जारी रहा। ममता बनर्जी सिंगूर आंदोलन को राष्ट्रीय आंदोलन बनाने में कामयाब रही थीं। उन्होंने तत्कालीन राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी के हस्तक्षेप के बाद धरना समाप्त किया था।

Facebook Comments