मजबूरी में सरकार खुलवा रही सबसे खतरनाक बांध, अब पानी मचाएगा कई गांवों में तबाही

केरल की पेरियार नदी का जलस्तर रविवार को 2394.33 फीट को पार कर गया और अभी भी इसमें वृद्धि जारी है, जिसके कारण इडुक्की जिला प्रशासन ने आसपास के लोगों के लिए चेतावनी जारी कर दी है।

खतरा बढ़ता देख लोगों को वहां से सुरक्षित निकालने के लिए भी प्रशासन ने काम शुरू कर दिया है। केएसईबी चीफ इंजीनियर बिबिन जोसफ ने बताया कि जलस्तर 2400 फीट पहुंचने से पहले डैम का शटर खोलने का निर्देश मुख्यमंत्री द्वारा दिया गया है।

केएसईबी चीफ इंजीनियर ने बताया कि मुख्यमंत्री ने 50 क्यूबिक मीटर प्रति सेंकेंड पानी छोड़ने का निर्देश दिया है। डैम सेफ्टी विंग ने मंगलवार को ट्रायल बेसिस पर शटर खोलने की योजना बनाई है। डैम के शटर को 40 सेंटीमीटर तक खोला जाएगा।

इडुक्की जिलाधिकारी ने बताया कि मुल्लापेरियार बांध से पानी छोड़े जाने को लेकर सरकार ने सारे इंतजाम कर लिए हैं। इडुक्की आर्क डैम एक हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट है जो पेरियार नदी पर बना हुआ है।

इडुक्की जिला प्रशासन ने डैम का शटर खोले जाने के बाद कोन्नाथड़ी, मरियापुरम, वझाथोप, वथीकुड़ी और कांजीकुंझी में पर्यटकों के आने पर रोक लगा दी है। कई गांवों को खाली करवाया गया है। प्रशासन ने सुरक्षा के मद्देनजर, चेतावनी जारी करते हुए इन इलाकों में पर्यटकों के लिए भी चेतावनी जारी की है। बताया जा रहा है कि जलस्तर बढ़ने से हजारों लोगों का आशियाना उजड़ने का खतरा बढ़ गया है, जबकि 25 सालों में पहली बार डैम के शटर को पानी छोड़ने के लिए खोला जाएगा।

Facebook Comments