योगी पर टिप्पणी करने वाले प्रशांत कनौजिया कोरिहा किया जाए, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर विवादित बयान देने के साथ ही वीडियो शेयर करने के मामले में गिरफ्तार हुए प्रशांत कनौजिया को सुप्रीम कोर्ट ने तुरन्त रिहा करने का आदेश दिया है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस को फ़टकार भी लगाते हुए पूछा है कि प्रशांत को किस धारा के अंतर्गत गिरफ़्तार किया गया है?

आपको बता दें कि प्रशांत कनौजिया ने ट्विटर पर योगी आदित्यनाथ से जुड़ी एक विवादित ख़बर चलायी थी। वहीं इसके साथ ही उन्होंने एक वीडियो भी शेयर किया था। इस मामलें में उत्तर प्रदेश पुलिस ने काफी गंभीरता से लेते हुए प्रशांत को गिरफ़्तार कर लिया था। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने मामले को संज्ञान में लेते हुए प्रशांत को तुरन्त ही रिहा करने का आदेश दिया है। हालाँकि प्रशांत पर केस चलता रहेगा, लेकिन उन्हें अब पुलिस के गिरफ़्त में नहीं रहना होगा।
प्रशांत को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मानहानि का केस लगाए जाने के बाद पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किया गया था। लेकिन प्रशांत पर लगाये गए कोई भी आरोप ऐसे नहीं थे जिसमे उन्हें पुलिस कस्टडी में रखा जा सके। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के उत्तर प्रदेश पुलिस को कड़ी फ़टकार लगायी है।

Facebook Comments