लोकतंत्र की रक्षा के लिए हम एक साथ हैं…ममता के धरने में शामिल होंगे चंद्रबाबू नायडू

कोलकाता में केंद्र सरकार और सीबीआई के खिलाफ धरने पर बैठी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का धरना बीते रविवार से जारी है। इस दौरान उन्होंने खाना खाने से भी मना कर दिया। अपने इस धरने का सत्यागह नाम देने वाली ममता बनर्जी के साथ बाकी के वरिष्ठ नेता भी साथ में जागते रहे। वहीं उन्होंने धरना स्थल से मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उनका ये धरना 8 फरवरी तक जारी रहेगा।

इसके बाद भी वे धरना जारी रखेंगे, लेकिन माइक के इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। दरअसल बंगाल में 8 फरवरी से राज्य में बोर्ड की परीक्षा शुरू हो रही है। वहीं ममता बनर्जी के धरने में आज शामिल होने चंद्रबाबू नायडू आ रहे हैं, जो करीब 2 बजे कोलकाता पहुंचेगे।उससे पहले मीडिया से बात करते हुए उन्होनें ममता बनर्जी का सपोर्ट करते हुए कहा है कि हम सभी इस देश को बचाने और लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए एक साथ हैं। ये लोकतांत्रिक संस्थानों पर हमला है। चुनाव से एक महीने पहले वे पुलिस आयुक्त के पास गए और उसे परेशान किया। यह पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है।

इसी बीच ममता बनर्जी धरनास्थल पर ही राज्य की कैबिनेट की बैठक कर रही हैं। वहीं आज राज्य विधानसभा में बजट पेश होना है। बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी विधानसभा नहीं जाएंगी। इसके अलावा एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने ममता बनर्जी के समर्थन का ऐलान किया है। साथ ही केंद्र सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है। ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने निजी फायदे के लिए सीबीआई जैसी स्वतंत्र एजेंसी का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

बता दें कि बीते रात पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत की और इस दौरान बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश को बचाने के लिए उनका सत्याग्रह जारी रहेगा। मैं किसी चीज से नहीं डरती। वे आपातकाल से भी बदतर तरीके से काम कर रहे हैं। उन्हें यह अच्छी तरह से पता होना चाहिए कि अब भारतीय जनता पार्टी 2019 में वापस सत्ता में नहीं आने वाली है।

Facebook Comments