सबरीमाला मंदिर के बोर्ड ने बदला रुख, सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश को समर्थन

सबरीमाला मंदिर की देखरेख करने वाले त्रावणकोर देवास्वम बोर्ड ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वह मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश पर कोर्ट का आदेश मानेगा। बोर्ड के वकील राकेश द्विवेदी ने कहा, “यह सही दिशा में सही कदम है।” बोर्ड पहले सबरीमाला में 10-50 वर्ष की आयु वाली महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ था।

Facebook Comments