सबसे महंगे ऑफिस के मामले में दिल्ली का कनॉट प्लेस दुनिया में 9वें स्थान पर

दिल्ली के कनॉट प्लेस ने एक बार फिर से पूरी दुनिया में सुर्खियां बटोरते हुए भारत का भी मान बढ़ाया है। दरअसल दुनिया के सबसे महंगे कार्यालय स्थल के लिए हुए सर्वे में दिल्ली के कनाट प्लेस को दुनिया में 9वां स्थान दिया गया है। इसका मतलब यह है कि कनॉट प्लेस दुनिया में नौवां सबसे महंगा कार्यालय स्थल है। इस रिपोर्ट के मुताबिक यहां पर एक वर्गफुट क्षेत्रफल का औसत वार्षिक किराया 153 डॉलर यानी लगभग 10,527 रुपए तक हो गया है।

यह सर्वेक्षण एक प्रॉपर्टी सहालकार सीबीआरई ने किया है। इससे पहले भी इस सर्वे में कनॉट प्लेस को दुनिया में 10वां स्थान दिया गया था। वहीं मुंबई का बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स अब 26वें स्थान पर खिसक गया है। यहां का औसत वार्षिक किराया 96.51 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इसके अलावा मुंबई का ही नरीमन पॉइंट भी 37वें स्थान र आ गया है। जबकि पिछले साल इसे इस रैंकिंग में 30वां स्थान मिला था। यहां का औसत वार्षिक किराया 72.80 डॉलर प्रति वर्गफुट है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक जहां दिल्ली का कनाट प्लेस 9वें सबसे महंगे कार्यालय स्थल के रूप में पहचान पा सका है। वहीं इस रैंकिंग में हांगकांग के सेंट्रल क्षेत्र को पहला स्थान दिया गया है। यहां का औसत वार्षिक किराया 306.57 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इसके बाद लंदन का वेस्टएंड, बीजिंग का फाइनेंस स्ट्रीट, हांगकांग का ही कोलून और बीजिंग का सीबीडी का नंबर आता है। इसके अलावा न्यूयॉर्क का मिडटाउन मैनहैटन छठे नंबर पर, मिडटाउन साउथ मैनहैटन सातवें नंबर पर और टोक्यो का मारुनोउची आठवें नंबर पर और लंदन का सिटी क्षेत्र दसवें नंबर पर है।

Facebook Comments