सुशिल कुमार मोदी ने पेश किया बजट, कहा दूसरे राज्य कर रहे बिहार को फॉलो

बिहार के डिप्टी सीएम और वित्तमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राज्य का बजट प्रस्तुत किया है. डिप्टी सीएम ने 2 लाख 502 करोड़ का बजट सदन में पेश किया है.  बजट में सबसे ज्यादा राशि शिक्षा के लिए आवंटित की गई है. बजट के शुरुआत से पहले भाषण में सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार वित्तीय प्रबंधन में सबसे अग्रणी है और कई दुसरे प्रदेश बिहार को फॉलो कर रहे हैं.  रेटिंग एजेंसी क्रिसिल की रिपोर्ट में भी इस बात का उल्लेख किया गया है कि आंध्र और तेलंगाना समेत केरल भी हमसे पीछे है. 

अपने भाषण के दौरान सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि, राज्य की खुदरा महंगाई दर 2.7 है. 2013 के अनुपात में राज्य में महंगाई दर में भारी कमी आई है. साथ ही क्रिसिल रिपोर्ट का जिक्र करते हुए हुए मोदी ने कहा है कि बिहार का पूंजीगत व्यय बढ़ गया है. वित्तीय प्रबंधन से बिहार का अच्छा विकास हुआ है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि राज्य को इस वर्ष आर्थिक और सामाजिक सुधार के लिए 11 विभिन्न पुरस्कार मिले हैं. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि, बिहार को भी आगे भी इस तरह से पुरस्कार मिलते रहेंगे और हम विकास की राह पर आगे बढ़ते रहेंगे.

गांव-गांव तक बिजली पहुंचाने की उपलब्धि का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा है कि, बिहार के तमाम गांवों में वक़्त से पहले बिजली पहुंच गई है. बिहार ऐसा करने वाला देश का आठवां प्रदेश बन गया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि आने वाले दो सालों में बिहार के प्रत्येक घर में बिजली का प्रीपेड मीटर लग चुका होगा. 

Facebook Comments