सोमवार को हुई थी कैबिनेट की बैठक…तीसरे दिन भी जारी है ममता बनर्जी का धरना

 सोमवार को पहली बार बंगाल राज्य सड़क किनारे कैबिनेट बैठक का गवाह बना है। ऐसे में बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने प्रशासनिक काम और विपक्ष के खिलाफ प्रदर्शन दोनों ही काम एक साथ किए हैं। सोमवार को पश्चिम बंगाल का बजट पेश किया गया था, जिसके लिए ममता बनर्जी ने धरनास्थल कैबिनेट बैठक की थी।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी द्वारा तैयार एक गोपनीय रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेज दी गई थी। उनकी इस सभा के लिए स्टेज को एक कॉन्फ्रेंस रूम में बदला गया था। जहां से उन्होनें 20 मिनट तक सभा को संबोधित किया। जिसके बाद वो दोबारा धरने पर बैठ गई थीं।

बता दें कि आज ममता बनर्जी के धरने का तीसरा दिन है। उन्होनें रविवार रात को ही 8 बजे से अपना धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। जिसे उन्होनें सत्याग्रह का नाम दिया है। ये प्रदर्शन उन्होनें मोदी सरकार के खिलाफ किया है। साथ ही उन्होनें ये भी कहा है कि जब तक वो मोदी सरकार को हटा नहीं देती तब तक वो चैन की सांस नहीं लेंगी।

बता दें रविवार पश्चिम बंगाल की सीएम ने मोदी सरकार की राजनीतिक साजिश बताते हुए मेट्रो चैनल पर राजीव कुमार के साथ धरने पर बैठ गई हैं। धरने पर बैठीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत की और इस दौरान बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश को बचाने के लिए उनका सत्याग्रह जारी रहेगा। मैं किसी चीज से नहीं डरती। वे आपातकाल से भी बदतर तरीके से काम कर रहे हैं। उन्हें यह अच्छी तरह से पता होना चाहिए कि अब भारतीय जनता पार्टी 2019 में वापस सत्ता में नहीं आने वाली है।

Facebook Comments