मिड डे मील खाने से मना करने पर प्रधानाध्यापिका ने नाबालिग को डंडे से पीटकर किया घायल

मिड डे मील खाने से मना करने पर प्रधानाध्यापिका ने नाबालिग को डंडे से पीटकर घायल कर दिया। प्रधानाध्यापिका की पिटाई से घायल नाबालिग को गंभीर हालत में कोरोनेशन अस्पताल भर्ती कराया गया है।

जहां डॉक्टरों की टीम ने नाबालिग का इलाज किया। दूसरी ओर घटना से आक्रोशित परिजनों  ने स्कूल पहुंचकर जमकर हंगामा करने के साथ ही मारपीट के आरोपी प्रधानाध्यापिका के साथ भी हाथापाई कर डाली।

मामला तूल पकड़ता देख मामले मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति को संभाला। दूसरी ओर घटना के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी ने मारपीट के आरोपी प्रधानाध्यापिका को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। बाल संरक्षण आयोग की टीम ने भी कोरोनेशन अस्पताल पहुंचकर नाबालिग से घटना की जानकारी ली।

घटनाक्रम के मुताबिक डालनवाला स्थित प्राथमिक विद्यालय में सोमवार को मिड डे मील पकाया गया। प्रधानाध्यापिका नसरीन बानो ने छात्रों से मिड डे मील खाने को कहा तो राहुल नाम के छात्र ने  मिड डे मील को घटिया बताते हुए खाने से इंकार कर दिया। बस यही बात प्रधानाध्यापिका नसरीन बानो को नागवार गुजरी और  राहुल की इस कदर पिटाई की कि वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

प्रधानाध्यापिका द्वारा नाबालिग की पिटाई करने और घायल हेोन की जानकारी पाकर बाल संरक्षण आयोग की सदस्य सीमा डोरा की अगुवाई में आयोग की टीम पहले स्कूल और फिर कोरोनेशन अस्पताल पहुंचकर घायल नाबालिग से पूछताछ कर घटना की जानकारी ली। सीमा डोरा ने बताया कि प्रधानाध्यापिका बच्चों के साथ सांप्रदायिक भेदभाव भी रखती हैं आयोग सदस्या ने कहा कि इस पूरे प्रकरण की गंभीरता से जांच कराई जाएगी।

दूसरी ओर इस प्रकरण के संज्ञान में आने के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए प्रधानाध्यापिका नसरीन बानो को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।  मुख्य शिक्षाधिकारी का कहना है कि बच्चों के साथ मारपीट की घटना को कतई बर्दाश्त नही किया जा सकता है।

अमानवीय पिटाई और प्रिंसिपल का रौद्र रूप देख बच्चा घबरा गया और बेहोश हो गया। साथी छात्र बच्चे को किसी तरह उठाकर उसके घर तक लाए। जहां से परिजन उसे लेकर कोरोनेशन अस्पताल आए। अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी कोशिशों के बाद बच्चे को होश आने में 15 मिनट लग गए।

Facebook Comments