12 जिलों से होकर गुजरेगा…36000 करोड़ में बनेगा मेरठ से प्रयागराज तक बनने वाला गंगा एक्सप्रेसवे

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज कुम्‍भ में कैबिनेट की बैठक में प्रयागराज को पश्चिमी उत्तर प्रदेश से जोड़ने के लिए गंगा Express-Way बनाने का फैसला किया है। यह दुनिया का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा, लगभग 600 किमी, यह 6,556 हेक्टेयर की भूमि पर इसका निर्माण किया जाएगा। दुनिया का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे 36000 करोड़ रुपए में बनकर तैयार होगा। गंगा एक्सप्रेसवे 12 जिलों से होकर गुजरेगा। फिलहाल मेरठ से प्रयागराज पहुंचने के लिए करीब 730 किलोमीटर लंबी सड़क पर सफर करना होता है

मेरठ-अमरोहा-बुलंदशहर-बदायूं-शाहजहांपुर-कन्नौज-उन्नाव-रायबरेली-प्रतापगढ़ सहित क्षेत्रों से होकर प्रयागराज पहुंचेगा। फोर लेन एक्सेस कंट्रोल एक्सप्रेसवे का 6 लेन तक विस्तार किया जा सकेगा। इस पर लगभग 36,000 करोड़ रुपए खर्च आने की संभावना है। इतिहास में पहली बार कुम्भ मेले में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रयागराज को पश्चिमी उत्तर प्रदेश से जोड़ने के लिए दुनिया के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे- गंगा एक्सप्रेसवे को 29 जनवरी को सैद्धांतिक सहमति दी है।

यह एक्सप्रेसवे जब बनेगा तो दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा। ये एक्सप्रेस वे इतना शानदार होगा कि पूरी दुनिया देखती रह जाएगी। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का गोरखपुर लिंक लगभग 91 किलोमीटर का है। यह आजमगढ़ और अंबेडकरनगर की सीमा से होकर गुजरेगा। 5,555 करोड़ रुपए की लागत से पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के इस लिंक पर यु’द्ध स्तर पर काम चल रहा है। इस पर भी मंत्रिमंडल ने सहमति दी है।

योगी आदित्यनाथ ने बताया कि पूरी दुनिया में रामायण के माध्यम से मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम को आम जनों तक पहुंचाने वाले महर्षि वाल्मिकी का प्रयागराज-चित्रकूट के बीच पहाड़ी नामक स्थान पर स्थित आश्रम पर एक भव्य प्रतिमा लगाने, रामायण पर एक शोध संस्थान खोलने और आश्रम का सौंदर्यीकरण करने के प्रस्ताव को भी सहमति दी गई है।

Facebook Comments