आय कमाने के लिए घरवालों ने छुडवा दी पढ़ाई, मजबूर हो भाग गईं….

लखनऊ में 3 बच्चियों ने घर इसलिए छोड़ दिया क्योंकि माता-पिता ने बड़ी बहन की पढ़ाई बंद करा दी। बच्चियां पढ़ना चाहती थीं लेकिन उनके माता पिता उन्हें घर की आय करने के लिए काम करने का दबाव बना रहे थे। इनमें दो सगी बहनें हैं जबकि एक उनकी चचेरी बहन है। बच्चियां सीतापुर, लखीमपुर और शाहजहांपुर के लिए जा रही थीं तभी पुलिस ने उन्हें रास्ते में पकड़ लिया

16, 14 और 13 साल की ये बच्चियां इंदिरा नगर के सेक्टर 9 में झोपड़पट्टी की रहने वाली हैं। 16 साल की बच्ची कक्षा दसवीं की छात्रा है। वह आगे पढ़ना चाहती थी लेकन उसके माता पिता ने उसकी पढ़ाई बंद करा दी थी। उसने घर छोड़ने का फैसला लिया। पुलिस ने बताया कि तीनों बहनों में बहुत प्यार है। उन्होंने भी दीदी के साथ घर छोड़ने की बात कही। 23 अप्रैल की रात तीनों बहनें एक ही साइकल पर सवार होकर घर से भाग निकलीं।

अगले दिन सुबह घर से तीनों बच्चियों के गायब होने की सूचना से हड़कंप मच गया। घरवालों ने पुलिस को सूचना दी। परिजनों ने पुलिस को बताया कि उन लोगों ने बड़ी बेटी को पार्ट-पार्टम साफ-सफाई के काम में साथ ले जाने का दबाव बनाया था। पुलिस ने तीनों को खोजना शुरू कर दिया।

बताया जा रहा है की  तीनों बहनें 24 अप्रैल को सीतापुर पहुंच गईं पास में रुपये नहीं थे इसलिए उन्होंने उनकी साइकल बेच दी। वहां से रुपये लेकर वे तीनों लोकल ट्रेन से शाहजहांपुर की तरफ निकल गईं। शाहजहांपुर से वे लखीमपुर पहुंचीं। लखीमपुर से वे लोग अनजाने में लखनऊ की ट्रेन में सवार हो गईं और वापस लखनऊ पहुंच गईं। यहां आकर उन्हें पता चला कि वे वापस लखनऊ आ गई हैं। वे फिर से कैसरबाग बस अड्डे पहुंची। वहां मौजूद पुलिस को तीनों की गतिविधियां देखकर कुछ शक हुआ तो उनसे पूछताछ की।

 

Facebook Comments