चौथी कक्षा की छात्रा के रोने से टीचर हुई परेशान…

 किसी समय पर सभ्य देश कहलाने वाले भारत में आज कल क्राइम बहुत बढ़ गया है. लोगो के गंदे इरादे पहले लड़कियों और औरतों तक ही थे लेकिन, अब छोटी छोटी बच्चियां भी सुरक्षित नहीं है. आये दिन नाबालिग बच्चियों के साथ बलात्कार और मर्डर की खबरें अख़बार की हेडलाइंस बनी नजर आती है. लोगो के अंदर से इंसानियत खत्म होती जा रही है. अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब भारत में इंसान से अधिक हैवान होंगे. अभी हाल ही में इंदौर से एक ऐसा ही मामला हमारे सामने आया है. जहाँ एक 9 साल की मासूम बच्ची को उसके अंकल द्वारा अश्लीलता सहनी पड़ी. दरअसल, ये बच्ची इंदौर के स्कूल में चौथी कक्षा की छात्रा है. जानकारी के अनुसार एक दिन बच्ची स्कूल में बहुत रो रही थी. जब उसकी टीचर ने उसको वजह पूछी तो बच्ची ने बताया कि उसके ताऊ ने उसके साथ गन्दा काम किया है और किसी को बताने से भी मना किया है. बच्ची की बात सुन कर टीचर उसके घर पहुँच गयी और उसके माँ बाप को पूरी घटना बताई. उसके बाद पुलिस को बुलवाया गया और उस ताऊ जी को गिरफ्तार कर लिया गया. आईये जानते हैं आखिर पूरा मामला क्या था…

राजकुमार यादव ने बताया कि 4 नवम्बर को बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी. उसके पडोस में रहने वाले अमृतलाल वर्मा(40 वर्ष) ने अकेला होने पर उसको घर में किसी बहाने बुला लिया. उसके बाद उस बच्ची के साथ उसने शर्म की सारी हदें पार कर डाली और अंत में बच्ची को धमकी दी कि अगर वह किसी को बताएगी तो वह उसको मार देगा. जिसके बाद बच्ची अंदर से काफी डर और सहम चुकी थी. उसके डर के कारण वह घर में किसी को बता नहीं पा रही थी. हमारे भारत में जिन बच्चों के साथ ऐसे हादसे होते हैं, उनका बचपन उनसे छिन जाता है. ऐसे में बच्चे या तो डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं या मानसिक तौर पर कमजोर होने लगते है

अमृतलाल ने जब उस मासूम बच्ची के साथ गन्दी हरकतें कि तो बच्ची काफी सहम गयी थी. वह अपना दुःख घर में किसी के साथ नहीं बाँट सकती थी क्यों कि उसको अमृतलाल से काफी डर लगने लग गया था. जानकारी के अनुसार इस घटना के बाद बच्ची काफी गुमसुम रहने लग गयी थी. इसका कारण उसके माँ बाप भी नहीं समझ पा रहे थे. एक दिन उसकी टीचर ने जब उसको रोते हुए देखा तो उसको बहुत प्यार से तसल्ली दी और रोने की वजह पूछी. तब उस बच्ची ने रोते हुए टीचर को अपने साथ हुए उस दुष्कर्म के बारे में बताया कि उसके मुंहबोले ताऊ जी उसके साथ अकेले में क्या क्या करते हैं. बच्ची की बातें सुन कर टीचर ने समझदारी दिखाई और उसके परिवार से मिलने पहुँच गयीं. केवल यही नहीं बल्कि टीचर ने पुलिस को भी जानकारी दी. इसके बाद तुकोगंज थाणे में मासूम के साथ दुष्कर्म के मामले में अमृतपाल को गिरफ्तार कर लिया गया.

हमारे समाज में ऐसी बहुत सारी बच्चियां है जो चुप चाप इस दर्द को सह रही हैं और कुछ शेयर भी नहीं कर पाती. ऐसे में हमे अपने बच्चों को जागरूक करना चाहिए ताकि उनके साथ कभी वैसा हादसा न हो जैसा इस बच्ची के साथ हुआ. अगर आपको अपने बच्चे में समझदारी के बदलाव नजर आये तो उसको इग्नोर मत करिए बल्कि, प्यार से अपने बच्चे से सच्चाई उगलवाने का प्रयास करें. क्यों कि बच्चों को दबाव से नहीं बल्कि प्यार से ही जीता जा सकता है.

Facebook Comments