आज कल की मोहब्बत भी कमाल की है…

  1. आज कल मोहब्बत का बस यही उसूल है,

तुम जिसे याद करके रो रहे हो,

वो किसी और को खुश करने में Busy है.

 

2. तड़पे बहुत पर वो मान नहीं पाए,

इस दिल की मोहब्बत जान नहीं पाए,

एक दिन चले जायेंगे इस दुनिया से,

और वो कहेंगे लौट आओ,

हम आपको पहचान नहीं पाए.

 

3. वक़्त नूर को बेनूर कर देता है,

थोड़े से जख्म को नासुरकर देता है,

कैन चाहता है अपनो से दूर होना,

पर वक़्त सबको मजबूर कर देता है.

 

4. जब दिल टूटता है तो हर कोई कहता है,

तुम्हे उससे भी अच्छा कोई मिलेगा,

मगर कोई ये नही जनता जरुरत अच्छे की नही होती,

उसकी होती है जिससे मोहब्बत हो.

 

5. हमने कब उससे मुलाक़ात का वादा चाहा,

दूर रह के तो और भी ज़्यादा चाहा,

याद आती है मुझे और भी शिद्दत से,

उसकी भूल जाने का जब भी इरादा चाहा.

 

6. अगर वो अपनी मोहब्बत हमे बना ले,

हम उनका हर ख्वाब अपनी पलकों पे सजा ले,

करेगी कैसे मौत हमे उनसे जुदा,

अगर वो हमे अपनी रूह में बसा ले.

Facebook Comments