आंधी-तूफान के साथ ओलावृष्टि, दलहन एवं तिलहन की फसलें भी चौपट,11 की मौत,….

प्रदेश में कुछ जिलों को छोड़कर शनिवार सुबह तेज हवा के साथ बारिश हुई। कई जगहों पर ओले भी पड़े हैं। आम, लीची एवं गेहूं की हजारों एकड़ में खड़ी फसलें बर्बाद हो गई हैं। कृषि विभाग के प्रारंभिक आकलन के मुताबिक दलहन एवं तिलहन की फसलें भी चौपट हुई हैं।

खेतों में लगी फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। आपदा प्रबंधन विभाग ने पूरे प्रदेश में अगले 24 घंटे की चेतावनी जारी की है। 14 जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

उत्तर बिहार में बीते सात दिनों में यह तीसरी बारिश है। सबसे ज्यादा असर मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर जिले में हुआ है। पारू एवं सरैया प्रखंड में फसलों पर गिरे ओले चादर की तरह दिख रहे थे। समस्तीपुर के 17 प्रखंडों में ओलावृष्टि एवं बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। गेहूं की तैयार फसल एवं आम को नुकसान पहुंचा। कोसी एवं सीमांचल के कुछ इलाकों में आंधी के साथ बारिश हुई। मुंगेर एवं खगडिय़ा में तेज आंधी ने परेशान किया। गोपालगंज कई प्रखंडों में गेहूं की फसलों की व्यापक बर्बादी हुई है। बिहारशरीफ जिले के सरमेरा प्रखंड में ओलावृष्टि से गेहूं और प्याज समेत अन्य रबी फसलों को नुकसान हुआ है। शेखपुरा, छपरा में आंधी-तूफान व ओले से कई प्रखंड प्रभावित हुए। बेगूसराय में भी फसलों को नुकसान पहुंचा है।

ओलावृष्टि, बारिश और वज्रपात से सबसे ज्यादा मधुबनी जिले में चार और वैशाली में तीन की जान गई। बांका, छपरा, जमुई एवं खगडिय़ा में एक-एक की जान गई है। बारिश के दौरान दर्जनों घर एवं पेड़ गिरने से कई जख्मी हो गए हैं। जमुई के झाझा प्रखंड के शक्तिघाट गांव में तेज आंधी में दीवार गिरने से 13 वर्षीय बच्चे की मौत हो गई।

इसी तरह वैशाली के सेंदुआरी निवासी टेनी राम की पत्नी 55 वर्षीय सुंदरी देवी, बिदुपुर थाने के चेचर गांव की 45 वर्षीय रीता देवी, पातेपुर के निरपुर गांव का 60 वर्षीय राजगीर राय की दीवार गिरने से मौत हो गई। छपरा जिले के बनियापुर निवासी 35 वर्षीय उषा देवी की ठनका गिरने से मौत हो गई।

मौसम एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने रविवार को भी पूरे बिहार को अलर्ट पर रखा है। 14 जिलों के लिए विशेष चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर से लेकर पूर्वी भारत तक थंडर स्टॉर्म की स्थिति बनी हुई है। बिहार, पश्चिम बंगाल एवं झारखंड में अचानक कहीं भी बारिश एवं तेज आंधी-तूफान के हालात बन सकते हैं। हवा की गति 30 से 50 किमी प्रति घंटे हो सकती है। दो-तीन घंटे के भीतर अचानक किसी भी क्षेत्र में तेज हवा चलने लग सकती है। बादल छा सकते हैं और ओले की बारिश शुरू हो सकती है।

आपदा प्रबंधन विभाग ने 14 जिलों के लिए आंधी-तूफान एवं बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है। पटना, मुजफ्फरपुर, वैशाली, सारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, दरभंगा, मधुबनी, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, खगडिय़ा, सहरसा मधेपुरा, जमुई एवं बांका। यहां रविवार को दोपहर एक बजे से शाम चार बजे के बीच आंधी-तूफान, एवं ओलों की बारिश हो सकती है।

Facebook Comments