मर्दानगी के लिए यह देसी चीज़ लेता था आसाराम, 75 की उम्र में आ जाती है 20 जैसी ताकत

लोग अपने को जवान बनाने के लिए तरह-तरह के जतन करते हैं। कई लोग तो अपने उठने-बैठने के तरीके के साथ बहुत कुछ बदल लेते हैं। कुछ तो अपने खान-पान में बदलाव करते है। परिवारिक सुख शांति के लिए पति-पत्नी के बीच शारीरिक रिश्ता भी मधुर होना चाहिए। आज हम आपको एक ऐसी चीज़ के बारे में बताने जा रहे हैं, जो मर्दानगी बढ़ाने के लिए आसाराम भी लेता था। जानकारों का कहना है कि इस चीज़ को खाने से व्यक्ति में 75 की उम्र में 20 साल जैसी ताकत आ जाती है।

आजकल सफ़ेद मूसली की मांग लगातार बढ़ रही है। जब से आसाराम के बारे में लोगों को पता चला है तब से इसका चलन तेज़ हुआ है। यह देसी जड़ी-बूटी है, जो आसाराम अपने आश्रम में मर्दानगी बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करता था। आसाराम सफ़ेद मूसली लेता है, इसका खुलासा खुद उनकी सेविका ने जोधपुर हाई कोर्ट में ट्रायल के दौरान किया था। गौरतलब है कि सफ़ेद मूसली की खेती काफी महंगी होती है।

लेकिन इसकी कीमत भी अधिक होती है। दवा कम्पनी इसका उपयोग कई दवाओ में करती है। अधिकतर दवाएं जो मर्दानगी को बढ़ावा देती हैं, उस में सफ़ेद मूसली का उपयोग होता है। मूसली भी दो तरह की हुआ करती है। सफ़ेद मुस्ली का उपयोग इन्फर्टिलिटी और स्पर्म की कमी को दूर करने के लिए किया जाता है।

यह सिर्फ पुरुषों के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं के लिए भी उतनी ही बराबर लाभकारी दवाई है। सफ़ेद मूसली शीघ्रपतन के इलाज़ में देसी रूप से उपयोग की जाती है। कौंच के बीज, सफ़ेद मूसली और अश्वगंधा के बीजों को बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बनाकर सुबह और शाम एक चम्मच दूध के साथ लेने से शीघ्रपतन से छुटकारा मिल जाता है।

इसके अलावा यह शरीर के नर्वस सिस्टम को चुस्त बनाने के लिए भी लाभकारी है। च्वनप्राश में भी इसकी कुछ मात्रा होती है।

Facebook Comments