अखिलेश यादव ही करेंगे गठबंधन और सीट बंटवारे पर फैसला

NEW DELHI, INDIA - DECEMBER 4: (Editor's Note: This is an exclusive shoot of Hindustan Times) Uttar Pradesh Chief Minister and Samajwadi Party leader Akhilesh Yadav speaks during a session on the day 1 of Hindustan Times Leadership Summit on December 4, 2015 in New Delhi, India. (Photo by Gurinder Osan/Hindustan Times via Getty Images)

समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 2019 लोकसभा चुनाव में गठबंधन और सीटों के बंटवारे के बारे में फैसला अखिलेश यादव पर छोड़ दिया गया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता राम गोपाल यादव ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का मुख्य निर्णय यह रहा कि आज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को 2019 लोकसभा चुनाव में गठबंधन और सीटों के बंटवारे के बारे में फैसला लेने के लिये अधिकृत किया गया है।

उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी का मानना है कि लोकसभा चुनाव ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से होना चाहिए। पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राजनीतिक माहौल पर क्या चर्चा हुई, इस पर उन्होंने कहा कि मैं आपको निर्णय के बारे में बता रहा हूं, न कि बैठक में हुई चर्चा के बारे में। उनसे जब बैठक में आजम खान सहित कुछ नेताओं के शामिल न होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि क्या यह जरूरी है कि सभी लोग बैठक में शामिल हों। 90 प्रतिशत सदस्य मौजूद थे। पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद थे।

यह पूछे जाने पर कि अगर चुनाव आयोग ने पार्टी की ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग नहीं मानी तो तब वह क्या करेंगे? इस पर यादव ने जवाब दिया कि उनके दरवाजे पर बैठ जायेंगे, और क्या गोली चलाने लगेंगे, गांधी जी के देश में सत्याग्रह करेंगे और क्या करेंगे।

Facebook Comments