अक्षय तृतीया के दिन खरीदी गई महंगी वस्तु भविष्य में पहुंचाती है लाभ ….

अक्षय तृतीया वैदिक पंचांग के सर्वाधिक शुभ दिनों में से एक है। इस दिन दान का विशेष महत्व माना गया है। मान्यता है कि इस दिन अपने सौभाग्य को दूसरों के साथ बांटने से ईश्वर की विशेष अनुकंपा प्राप्त होती है। इस दिन किया गया दान अक्षय फल प्रदान करता है। इस दिन शिव-पार्वती और श्रीहरि की उपासना का विधान है। अक्षय तृतीया पर पौधे लगाने से अनंत फल की प्राप्ति होती है।

इस दिन भगवान परशुराम की पूजा कर उन्हें अर्घ्य अर्पित करें। अक्षय तृतीया के दिन खरीदी गई महंगी वस्तु भविष्य में लाभ पहुंचाती है। सोना खरीदना शुभ माना जाता है। तृतीया मां गौरी की तिथि है। इस दिन गृहस्थ जीवन में सुख-शांति के लिए की गई प्रार्थना तुरंत स्वीकार होती है। इस दिन गंगा स्नान अवश्य करना चाहिए।

अक्षय तृतीया के दिन महिलाएं, पति की दीर्घायु के लिए कुमकुम का दान करें। चंदन का दान करने से दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है। इस दिन नारियल का दान करने से पूर्वजों की आत्मा को शांति प्राप्त होती है। विद्यार्थियों को इस दिन मक्खन या फिर छाछ का दान अवश्य करना चाहिए। मान्यता है कि जो व्यक्ति इस दिन चप्पल का दान करता है, उसे मृत्यु के पश्चात नर्क नहीं भोगना पड़ता। इस विशेष दिवस पर पूर्वजों को तिलयुक्त जल अर्पित करें।

Facebook Comments