Top Story : 22 साल पुराने केस में हिरासत में लिए गए पूर्व IPS अधिकारी संजीव भट्ट

पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को बुधवार को 22 साल पुराने एक मामले में गुजरात सीआईडी ने हिरासत में ले लिया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह मामला 1996 में मादक पदार्थ से जुडे़ एक केस का है।

सीआईडी के डीजीपी आशीष भाटिया ने बताया कि भट्ट और सात अन्य को जिसमें कुछ पूर्व पुलिसवाले भी शामिल हैं, उन्हें मामले की पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। संजीव भट्ट साल 1996 में बनासकांठा जिले के एसपी थे।

न्यूज एजेंसी पीटीआई ने प्राप्त जानकारी के हवाले से बताया है कि संजीव भट्ट की बनासकांठा पुलिस ने साल 1996 में सुमेरसिंह राजपुरोहित नामक एक वकील को लगभग एक किलो ड्रग्स के आरोप में गिरफ्तार किया था।

उस समय बनासकांठा पुलिस ने दावा किया था कि पकड़ा गया ड्रग पालनपुर में राजपुरोहित द्वारा लिए गए होटल के एक कमरे से मिला है। हालांकि, राजस्थान पुलिस की जांच में पता चला था कि राजपुरोहित पर बनासकांठा पुलिस ने झूठा आरोप लगाया था। इसके अलावा यह भी सामने आया था कि राजपुरोहित का राजस्थान के पाली स्थित उसके घर से बनासकांठा पुलिस ने कथित तौर पर अपहरण भी किया था।

इस साल जून महीने में गुजरात हाईकोर्ट ने राजपुरोहित द्वारा दायर याचिका की सुनवाई करते हुए मामले को सीआईडी को सौंप दिया था। हाईकोर्ट ने सीआईडी से तीन महीने में जांच को पूरा करने का निर्देश दिया था।

Facebook Comments