ओवैसी का अमेरिका को दो टूक कहा, हमें ने बताएं कि कहां से तेल लेना है या नहीं

गौरतलब है कि ईराक और सऊदी अरब के बाद भारत ईरान का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है. 2017 से 2018 तक ईरान ने भारत को 18.4 मिलियन टन का कच्चा तेल दिया है.

ईरान से भारत को तेल आयात खत्म करने के लिए करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के फरमान पर भारत के एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अमेरिका को आड़े हाथों लेते हुए जमकर खरी खोटी सुनाई है. ज्ञात हो कि अमेरिका ने पिछले हफ्ते ही भारत समेत अन्य देशों को ईरान से तेल आयात नहीं करने की चेतावनी दी थी क्योंकि ईरान पर 4 नवंबर से अमेरिकी प्रतिबंध लगा हुआ है.

 

असदुद्दीन ओवैसी यहाँ ही नहीं रुके और आगे उन्होंने कहा कि भारत की संप्रभुता में दखल देने वाला अमेरिका कौन होता है. भारत की संप्रभुता पर अमेरिका कैसे हस्तक्षेप कर सकता है. ओवैसी ने  शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में जनसभा को संबोधित करते वक़्त यह बयान दिया.

 

साथ ही उन्होंने कहा, ‘अमेरिका कौन होता है भारत को कहने वाला? आप हमें कैसे कह सकते हो कि हम यहां से तेल खरीदे और यहां से नहीं? क्या अमेरिकी राष्ट्रपति को यह कहना चाहिए कि हम कहां से चीजें खरीदें और कहां से नहीं? क्या यह भारत की संप्रभुता में अमेरिका का दखल नहीं है?’ गौरतलब है कि ईराक और सऊदी अरब के बाद भारत ईरान का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है. 2017 से 2018 तक ईरान ने भारत को 18.4 मिलियन टन का कच्चा तेल दिया है.

Facebook Comments