45 लाख किलो टटी लेकर घुमी रही थी ट्रेन, 982 लोगों की जान मुसीबत में..

जहां पर सीवेज डंप किया गया, उस जगह के नजदीक स्थानीय लोगों का बेसबॉल ग्राउंड है, जिससे कस्बे के युवा खेल भी नहीं पा रहे हैं और बदबू के साथ जीने को मजबूर हैं.

अमेरिका के एक छोटे से कस्बे पैरिश में इनदिनों लोगों का रहना मुहाल हो गया हैं. वहज हैं इंसानी मल. जी हाँ, दरअसल अमेरिका के अलबामा राज्य में करीब 45 लाख किलो इंसानी मल डंप किया गया है जिसे माल गाड़ी में भर कर यहां लाया गया. इससे आसपास के इलाके में भयंकर बदबू का आलम हैं. इस वजह से कस्मे में रहने वाले लगभग 982 लोगों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें यहां दर्जन भर ट्रेनों में भरकर इंसानी मल 2 महीने पहले पैरिश कस्बे में लाया गया था.

यह इंसानी मल न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी से पैरिश कस्बे के नजदीक स्थित एडम्सविले इलाके में एक निजी लैंडफिल साइट पर डंप किया गया. इससे पूरा पैरिश कस्बा जानलेवा बदबू के काफी हताश हो चुके हैं. जनवरी में ही पैरिश कस्बे के नजदीक स्थित अन्य कस्बे वेस्ट जैफरसन ने अदालत में याचिका दाखिल कर प्राइवेट कंपनी द्वारा सीवेज उनके कस्बे में लाने का विरोध किया था. याचिका में कहा गया था कि कस्बे के निवासी तेज दुर्गंध से परेशान हैं. इस पर अदालत ने वेस्ट जैफरसन कस्बे के पक्ष में फैसला सुनाया.

जब अदालत ने वेस्ट जैफरसन कस्बे के पक्ष में फैसला सुनाया, तब तक इंसानी मल भरकर ट्रेनें न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी से निकल चुकी थी. इस पर इन ट्रेनों को पैरिश के नजदीक स्थित एडम्सविले इलाके के रेल यार्ड में खाली कर दिया गया। जहां पर सीवेज डंप किया गया, उस जगह के नजदीक स्थानीय लोगों का बेसबॉल ग्राउंड है, जिससे कस्बे के युवा खेल भी नहीं पा रहे हैं और बदबू के साथ जीने को मजबूर हैं.

Facebook Comments