बेटे के घर नहीं लौटने से मां अनिता की तबीयत बिगडी….

पुलिस की टीम शंभू के घर गई थी। वे बेउर थाना इलाके के 70 फीट आईओसी रोड स्थित गली नंबर 3 में रहते हैं। पुलिस ने पिता से किसी से दुश्मनी या रंजिश के बाबत पूछताछ की। शंभू ने कहा कि उनका किसी से कोई विवाद नहीं है और न ही किसी से दुश्मनी है। केंद्रीय विद्यालय कंकड़बाग के प्लस टू का छात्र 2 मई को घर से स्कूटी से बोरिंग रोड स्थित विद्या मंदिर क्लासेज में कोचिंग करने आया पर घर नहीं लौटा। हालांकि शंभू या उसके किसी परिजन के मोबाइल पर फिरौती का कोई कॉल नहीं आया है।

यश स्कूटी से क्लास करने घर से 2 मई को निकला। उसने क्लास भी किया। क्लास करने के बाद वह घर के लिए शाम में करीब 7.27 बजे निकाला। 7.57 बजे उसने छोटी बहन आयुषी को फोन कर पूछा कि कौन चॉकलेट ले आएं। वह उस वक्त गर्दनीबाग के कच्ची तालाब के पास था। रात साढ़े आठ बजे के बाद वह नहीं आया तो फोन लगाए तो मोबाइल बंद मिला।

 

इधर, इकलौते बेटे के नहीं लौटने से मां अनिता की तबीयत बिगड़ गई है। उसके पिता की भी हालत ठीक नहीं है। शंभू, पत्नी अनिता और साले के साथ 24 अप्रैल को वैष्णो देवी गए थे। यश के लापता होने की सूचना मिलने के बाद 3 मई को सभी विमान से पटना लौट गए। चार दिन से लापता सचिवालय सहायक शंभू चौधरी के इकलौते बेटे यश राज उर्फ निक्कू का सुराग नहीं मिला है। पुलिस उसकी स्कूटी भी बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस इसे अपहरण का मामला ही मानकर जांच करने में जुटी है।

 

 

Facebook Comments