रामलीला मैदान पर हो गया अन्ना का अनशन शुरू

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे केन्द्र में लोकपाल नियुक्त करने की अपनी मांग को लेकर आज से रामलीला मैदान मेंअनिश्चतकालीन अनशन पर बैठ गए. यह वही स्थान है, जहाँ सात साल पहले अन्ना ने यूपीए सरकार के खिलाफ ऐतिहासिक भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन किया था.

आपको बता दें कि अनशन पर बैठने से पहले अन्ना हजारे राजघाट में महात्मा गांधी की समाधि स्थल पर गए और श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद वे शहीदी पार्क भी गए शहीदों को श्रद्धांजलि दी. आखिर में अन्ना हजारे ने पहले तिरंगा फहराया और फिर अपना अनशन आरम्भ किया. इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एवं कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त एन संतोष हेगड़े आंदोलन में शामिल होने रामलीला मैदान पहुँच गए.

उल्लेखनीय है कि इस मौके पर अन्ना ने कहा कि वे इस बार अपनी मांगें पूरी करवाए बिना नहीं उठेंगे.उन्होंने कहा कि धरने पर बैठने से पहले मैंने मोदी सरकार को कई खत लिखे.लेकिन कोई ज़वाब नहीं आया. अन्ना ने यह भी कहा कि उनके समर्थक दिल्ली न आ सके इसलिए प्रशासन ने ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. अन्ना ने सवाल किया कि सरकार क्या चाहती है कि किसान हिंसा पर उतर आएं ? स्मरण रहे कि वर्ष 2011 में भ्रष्टाचार की जांच के लिए लोकपाल के गठन की मांग को लेकर अन्ना इसी मैदान में अनशन पर बैठे थे .

Facebook Comments