मां-बेटी से गैंगरेप के आरोपी आशु महाराज को कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को स्वयंभू ज्योतिषी आशु महाराज उर्फ आसिफ खान को एक अक्टूबर तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आशु महाराज पर एक महिला और उसकी बेटी से गैंगरेप करने का आरोप है। इस मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बीते गुरुवार को आशु महाराज को शाहदरा इलाके से इलाके से हिरासत में लिया था।

जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद की रहने वाली एक महिला ने आशु महाराज उर्फ आसिफ खान के खिलाफ यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था। महिला ने आरोप लगाया था कि बाबा ने दिल्ली के अपने आश्रम में उसके साथ कई सालों तक रेप किया। महिला के मुताबिक, बाबा के बेटे और दोस्तों ने भी उसका और उसकी बेटी का यौन शोषण किया। आरोपों के मुताबिक, महिला की बीमार बेटी का इलाज करने के बहाने आरोपी आशु महाराज ने उन्हें अपने रोहिणी के आश्रम में ले जाकर उनके साथ बलात्कार किया।

आशु महाराज का असली नाम आसिफ खान

मामले की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को पता चला कि ज्योतिषाचार्य का चोला ओढ़े इस ढोंगी बाबा का असली नाम आसिफ खान है। निर्वाचन आयोग की वोटर लिस्ट में भी आशु भाई गुरुजी की फोटो के सामने उसका नाम आसिफ खान लिखा हुआ है। उसके बेटे की फोटो के सामने उसका नाम समर खान लिखा हुआ है। वोटर लिस्ट में आसिफ खान के बेटे समर खान की भी तस्वीर लगी है।

वजीरपुर जेजे कॉलोनी में हुआ था जन्म 

आसिफ खान का जन्म वजीरपुर जेजे कॉलोनी में हुआ था। आसिफ ज्योतिष और तंत्र-मंत्र का काम करता था। इसके चलते आसिफ और उसके पिता नहीं आपस में नहीं बनती थी। ऐसे में उसके पिता ने 20 साल पहले उसे घर से निकाल दिया था। जिसके बाद आसिफ ने आशु बनकर ज्योतिष का काम शुरू किया और लोगों के साथ ठगी कर करोड़ों की सम्पत्ति जमा कर ली। आसिफ के परिजन वर्तमान में भी वजीरपुर जेजे कॉलोनी में ही रहते हैं।

Facebook Comments