सवर्णों को सुप्रीम कोर्ट ने दी बड़ी राहत, आरक्षण पर दिया बड़ा फैसला

पिछले कुछ समय से भारत में एससी-एसटी एक्ट पर घमासान मचा हुआ है। बताते चलें कि सवर्ण समाज ने भाजपा सरकार द्वारा लाए गए एससी-एसटी एक्ट का जमकर विरोध किया। हालांकि इसी बीच न्यायालय ने सवर्ण समाज सहित सामान्य वर्ग के समाज को भी एक बड़ी राहत देते हुए एक बड़ा फैसला सुनाया है। इसके चलते सवर्ण समाज में फिलहाल एक खुशी व्याप्त हो गई है।

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी नौकरी में प्रमोशन में आरक्षण पर बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि प्रमोशन में आरक्षण देना जरूरी नहीं है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है कि नागराज मामले में उसका फैसला बिल्कुल सही था। इसीलिए फिर से विचार सही नहीं है। यहीं नहीं इस मामले को दोबारा सात जजों की पीठ के पास भेजा जाना जरूरी नहीं है।

दरअसल 2006 में नागराज मामले में पांच जजों की ही एक संवैधानिक बेंच ने फैसला दिया था कि सरकारी नौकरियों में प्रमोशन में अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्गों को संविधान के अनुच्छेद 16 (4) और 16(4ख) के अंतर्गत रिजर्वेशन दिया जा सकता है। लेकिन इसके लिए किसी भी सरकार को कुछ मानदंडों को पूरा करना होगा।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सवर्ण समाज सहित सामान्य वर्ग के व्यक्तियों में खुशी का माहौल फैलना सही भी है। क्योंकि आरक्षण के चलते पहले ही सवर्ण समाज को काफी ज्यादा कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में प्रमोशन में किसी भी प्रकार का आरक्षण ना होने पर कार्य के अनुरूप ही उच्च पदों पर नियुक्त किया जाएगा। हालांकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से आप खुश हैं अथवा नहीं? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही हमारे चैनल को फॉलो करें।

Facebook Comments