पति को बिना बताए जाती थी फौजी की पत्नी, इसी शक ने ले ली जान..

पुलिस ने बताया कि सर्विलांस टीम की मदद से मृतका गुड़िया के पति मनोज की लोकेशन पता कराई गई तो उसकी लोकेशन भले ही ड्यूटी पर मिली, लेकिन उसने फोन पर ही अपने गाव के विजय व उसके साथी रिंकू व गौरव निवासी गोंडा को सात लाख रुपए की सुपारी देकर पत्‍‌नी गुड़िया की हत्या कराने की साजिश रची थी।

कातिल को हत्या करने के लिए 7 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी। हत्या का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ। पुलिस ने आरोपी फौजी पति सहित एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

उसने प्लानिंग के तहत हत्या तब करवाई जब वो खुद कश्मीर ड्यूटी पर था ताकि किसी को उस पर शक ना हो। लेकिन जांच में उसकी प्लानिंग का खुलासा हो गया है। हत्‍यारों ने हत्‍या करने के बाद शव को पंखे से लटका दिया ताकि खुदकुशी लगे। पुलिस ने बताया कि हत्‍यारों की तलाश के लिए संभावित जगहों पर छापेमारी की जा रही है और वो जल्‍द ही गिरफ्त में होंगे।

इस साजिश के तहत बीती 23 जनवरी को गुड़िया की गला दबाकर हत्या कर दी गई। बाद में उसके शव को फंदे पर लटका दिया गया, ताकि देखने से प्रतीत हो कि उसने खुदकशी की है। आरोपी ने हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसके शव को चुन्नी से बांधकर पंखे पर लटका दिया। इस संबंध में मृतक गुड़िया के पिता ने पति मनोज फौजी व गांव के योगेंद्र व नरेश आदि के खिलाफ दहेज हत्या का मुकद्दमा दर्ज कराया था।

Facebook Comments