बतौर कप्तान विदेश में विराट कोहली बने भारत के सबसे सफल बल्लेबाज

कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत भारत ने ट्रेंट ब्रिज टेस्ट मैच के पहले दिन का अंत 6 विकेट के नुकसान पर 307 रन बनाकर किया। पहले दिन का खेल खत्म होने तक अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे रिषभ पंत 22 रन बनाकर क्रीज पर थे। दिन का अाखिरी विकेट हार्दिक पांड्या के रूप में गिरा, जिन्हें 18 रन के निजी योग पर जेम्स एंडरसन ने जोस बटलर के हाथों कैच आउट कराया।

सिर्फ 3 रन से अपने 23वें टेस्ट से चूके विराट
भारत के लिए पहले दिन की सबसे अच्छी बात रही विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे के बीच चौथे विकेट के लिए हुई 159 रन की साझेदारी। हालांकि रहाणे और कोहली दोनों दुर्भाग्यशाली रहे और शतक बनाने से चूक गए। विराट कोहली ने 97 रन बनाए तो अजिंक्य रहाणे ने 81 रन की पारी खेली। अपनी इस पारी के दौरान विराट ​कोहली ने कप्तान के तौर पर एक खास मुकाम हासिल कर लिया। विराट कोहली बतौर कप्तान विदेशी धरती पर भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

विराट कोहली ने सौरव गांगुली को पीछे छोड़ा
विराट कोहली ने टेस्ट टीम की कप्तानी संभालने के बाद से भारत के बाहर 1700 से अधिक रन अपने नाम कर लिए हैं। उन्‍होंने 30 पारियों में यह मुकाम हासिल किया है। विराट ने ये मुकाम सौरव गांगुली को पीछे छोड़कर हासिल किया है। सौरव गांगुली ने बतौर कप्तान भारत के बाहर 43 पारियों में 1693 रन बनाए थे। बतौर कप्‍तान विदेश में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में महेंद्र सिंह धोनी तीसरे नंबर पर हैं। उन्‍होंने 30 मैचों की 53 पारियों में 1591 रन बनाए हैं। मोहम्‍मद अजहरुद्दीन इस मामले में चौथे स्थान पर हैं। उन्होंने बतौर कप्तान विदेशी धरती पर 27 टेस्ट मैचों की 41 पारियों में 1517 रन बनाए हैं।

Facebook Comments