फैसला सुनाने वाले जज कम अनुभवी,मक्का मस्जिद केस पर बोले औवेसी…..

हाल ही में मक्का मस्जिद केस में आए फैसले पर जहां भारतीय जनता पार्टी ने पूरी तरह नाराजगी जाहिर की है. वहीं अब इस केस में असद्दुसीन औवेसी ने भी अपना बड़ा बयान दिया है. औवेसी ने अपने बयान में फैसला सुनाने वाले जज को काम अनुभवी तक भी कह डाला. उन्होंने कहा कि मक्का मस्जिद केस पर फैसला सुनाने वाले जज को अनुभव की कमी है. जिसके चलते उन्होंने यह फैसला सुनाया. गौरतलब है कि 2007 में हैदराबाद की ऐतिहासिक मक्का मस्जिद में हुए ब्लास्ट मामले में जुमे की नमाज के दौरान हुए धमाके के मामले में सोमवार को एनआईए की विशेष कोर्ट ने फैसला सुनाया था.

अदालत ने इस मामले में मुख्य आरोपी असीमानंद समेत सभी पांचों आरोपी को बरी कर दिया था. सीबीआई अधिकारियों ने 68 चश्मदीदों की गवाही दर्ज की थी. इनमें से 54 गवाह अब गवाही से मुकर गए. सीबीआई ने इस मामले आरोपपत्र भी दाखिल किया. हाल ही में सोमवार को आए फैसले पर भाजपा ने भी नाराजगी जाहिर की थी. और भाजपा ने कांग्रेस पर भगवा आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था.

आपको बता दे कि साल 2007 मेंहैदराबाद में हुए मक्का मस्जिद केस में करीब 9 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी. वहीं हीं 58 लोग घायल हुए थे. इस मामले पर अंतिम फैसला हाल ही में सोमवार को 11 साल बाद आया. फैसला सुनाने के बाद  एनआईए जज रविंद्र रेड्डी ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया था. जिसे फ़िलहाल नामंजूर कर दिया गया है.

Facebook Comments