डॉक्टरों से कहा- आसाराम ने कोई गोली या इंजेक्शन लगाकर मुझे फिर से जवान बना दो ….

एक मासूम नाबालिग लड़की के साथ दुराचार के आरोप में जेल में बंद आसाराम का विवादों से चोली दामन जैसा साथ रहा है। यौन उत्पीड़न के अलावा आसाराम के स्कूलों में बच्चों की संदिग्ध मौत ने पूरे देश में सनसनी फैला दी थी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले करीब 18 वर्षों में उसके स्कूलों में पढ़ने वाले सैकड़ों बच्चों की रहस्यमयी हालात में मौत हुई। जिसके पीछे काले जादू को वजह माना जा रहा था। ऐसे ही कई मामले हैं जिनकी वजह से आसाराम विवादों में घिरे रहे।

 

सैकड़ों बच्चों की संदिग्ध मौत :

दरअसल, साल 2001 के बाद अचानक आसाराम के स्कूलों में बच्चों की संदिग्ध मौतें होने लगीं। अकेले महाराष्‍ट्र राज्य में मौजूद आसाराम के गुरुकुल कहलाने वाले स्‍कूलों में करीब सात सौ से ज्यादा बच्‍चों की मौत हुई। अधिकतर मामलों में सांप और बिच्छू के काटने से मौत हुईं। इसके अलावा बच्चों को बुखार या छोटी मोटी बीमारियों की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी।

 

बच्चों की मौत का आंकड़ा :

जब इस मामले पर हंगामा बरपा तो सरकार भी सकते में आ गई। उस वक्त सामाजिक न्याय और अधिकारिता मामलों की संसदीय स्थायी समिति ने इस पूरे मामले पर एक विस्तृत रिपोर्ट तलब की थी। बच्चों की असामयिक मौत का कारण जानकर समिति के सदस्य हैरान रह गए थे। उन्हें जांच में पता चला कि आसाराम के स्कूलों में साल 2001-2002 और 2011-2012 के दौरान 793 बच्चों ने अपनी जान गंवाई।

मरने वालों में आदिवासी बच्चे :

महाराष्ट्र सरकार सकते में थी। प्रारंभिक जांच के दौरान आसाराम के स्कूलों से करीब 75 कर्मचारियों को निकाला गया। करीब 30 कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। कुछ कर्मचारियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया। सबसे हैरानी की बात है कि मरने वाले बच्चों में ज्यादातर आदिवासी बच्चे शामिल थे।

 

एम्स में नर्स पर किया था भद्दा कमेंट :

सितंबर 2016 में मेडिकल चेकअप के लिए आसाराम को जोधपुर से दिल्ली के एम्स लाया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आसाराम ने एम्स की नर्स के गालों की तुलना कश्मीरी सेब से कर दी, जिससे वो झेंप गई।

नर्स पर की थी ये विवादित टिप्पणी :

दरअसल, मेडिकल टेस्ट से पहले आसाराम को ब्रेकफास्ट करना था। एम्स की एक नर्स उनके लिए ब्रेड और बटर लेकर आई। नर्स के हाथ में ब्रेड और बटर देखकर आसाराम बोले, ‘तुम को एकदम मक्खन जैसी हो। ब्रेड के साथ मक्खन लाने की जरूरत ही क्या है। तुम जरूर कश्मीरी होगी। तुम्हारे गाल सेब जैसे हैं।’ आसाराम के मुंह से इस तरह के कमेंट सुनकर नर्स तुरंत झेंप गई।

डॉक्टरों से बोला था- मुझे फिर से जवान बना दो :

इसके बाद आसाराम डॉक्टरों से कहने लगे कि वो 80 साल के हो गए हैं। बुढ़ापा आ गया है। डॉक्टर साहब मेरा इलाज करवा दो और मुझे पहले की तरह जवान बना दो। आसाराम के साथ आए जांच अधिकारियों ने कहा कि वो बार-बार वीडियोग्राफी करने से भी रोक रहे थे।

दिल्ली लाते हुए प्लेन में हुआ था ड्रामा :

हाल में आसाराम को जब प्लेन के जरिए जोधपुर से दिल्ली लाया जा रहा था तो विमान में हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ था। विमान में 70 में से 35 सीटों पर उनके समर्थक थे। जैसे ही विमान टेक-ऑफ हुआ आसाराम के समर्थक पैर छूने के लिए भगदड़ करने लगे और भजन गाने लगे।

विमान का संतुलन बिगड़ते देख पायलट ने सीट बेल्ट बांधकर यात्रियों से अपनी जगह पर बैठने का अनुरोध किया। विमान में मौजूद पुलिसकर्मियों के अनुसार, जब समर्थक चुप होते तो जानबूझकर पुलिस को परेशान करने के लिए आसाराम समर्थकों को इशारा कर रहा था और हंगामा बढ़ता देख खुद ही शांत करने लगा। पुलिस को प्लेन के अंदर भारी मशक्कत करनी पड़ी थी।

 

Facebook Comments