सावधान: इन चीजों के खाने से होता है कैंसर, जल्द करें एब्वाइड

भारत ही नहीं दुनियाभर में कैंसर तेजी से फैल रहा है। भले ही यह लाइलाज न हो लेकिन अभीतक इसका ठीक से इलाज संभव नहीं हो पाया है और यह काफी खर्चीला भी है। कैंसर किसी को भी हो सकता है। उम्र इसके लिए मायने नहीं रखता है। पहले मान्यता थी की यह बिमारी सिर्फ शराब, सिगरेट, गुटखा, खैनी खाने वालों को होता है। लेकिन ये पूरी तरह से सही नहीं है। इनके अलावे भी कई ऐसे चीजें हैं जिसके खाने से कैंसर की संभावना बढ़ जाती है।

खास बात ये है कि हम और आप खाने में इन चीजों का रोज इस्तेमाल कर रहे हैं…

– पैकेट वाले पॉपकॉर्न फेफड़ों के कैंसर का कारण बनते हैं। माइक्रोवेव में जब ये पैकेट गरम होता है तो कई तरह के कैमिक्लस छोड़ता है, जो पैकेट में अंदर मौजूद ऑयल या मक्खन और पॉपकॉर्न में मिलकर फेफड़ों को कमजोर करते हैं।

– डब्बों वाले खाना खाने से कैंसर की संभावनाएं बढ़ रही है। ऐसी कई कंपनियां हैं जो पैक्ड फूड बनाने लगी हैं, उन्हें सिर्फ 2 मिनट गरम करें और आपका खाना तैयार। स्टील या बाकि मटीरियल में BPA (बिस्फेनॉल A) मौजूद होता है जो आगे चलकर कैंसर की वजह बनता है।

– रिफांइड चीनी और हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप कैंसर का बड़ा कारण है। ब्राउन शुगर भी सेहत के लिए ठीक नहीं है। इसमें भी कलर और फ्लेवर मिलाए जाते हैं जिससे ये और भी खतरनाक हो जाती है। रिफाइंड चीनी कैंसर सेल्स को पालने का काम करती। इसीलिए चीनी की जगह शहद का सेवन करना चाहिए और मीठा कम खाना चाहिए।

– बॉटल में भरी ड्रिंक्स में कार्बोहाइड्रेट होता है। इसमें मौजूद हाई-फ्रुटोज़ कॉर्न सीरप, कैमिकल्स और कलर्स इसे और भी खतरनाक बनाते हैं।

– बाजार में मिलने वाला वेजिटेबल ऑयल्स सेहत के लिए काफी खतरनाक हैं। इसमें कई ओमेगा 6 समेत कई तरह के कैमिकल्स होते हैं जो सेहत को नुकसानदेह होता है।

– बाजार में मिलने वाला डाएट ड्रिंक्स और डाएट फूड्स सेहत के लिए हानिकार होता है और इनका ज़रूरत से ज़्यादा सेवन कैंसर सेल्स को बढ़ाता है।

7. फ्राइड फूड्स खाने में ज़रूर स्वादिष्ट होते हैं लेकिन इनमें मौजूद कई तत्व कैंसर का कारण बनते हैं।

Facebook Comments