नेशनल फिल्म अवॉर्ड-बिना राष्ट्रपति के नहीं लेंगे पुरस्कार…..

New Delhi: NDA's presidential nominee Ram Nath Kovind arrives to attend an NDA meeting at Parliament in New Delhi on Friday. PTI Photo by Subhav Shukla (PTI6_23_2017_000151B)

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार वितरण समारोह में शामिल होने वाले 60 से अधिक कलाकार शामिल नहीं होंगे। सभी एक्टर्स का कहना है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद स्थापित परंपरा से अलग हटकर केवल 11 लोगों को पुरस्कार देंगे।

देशभर के कलाकारों ने फिल्म महोत्सव निदेशालय, भारत के राष्ट्रपति कार्यालय और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि वे आखिरी क्षण में यह सुनकर दुखी हैं कि राष्ट्रपति केवल 11 कलाकारों को पुरस्कार देंगे। बाकी लोगों को सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी पुरस्कार देंगी।

 

इस मसले पर पुरस्कार प्राप्त करने वाले कई कलाकार ट्विटर पर अपनी असहमति जताते हुए ट्वीट किया है। फिल्म डायरेक्टर अश्विनी चौधरी ने कहा, भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार का बहिष्कार करने वाले सभी कलाकारों के साथ खड़े होना चाहिए। यह राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के इतिहास में काला दिन है. उनके अलावा अन्य कलाकार अशोक पंडित, राहुल ढोलकिया, प्रोड्यूसर तनुज गर्ग और डायरेक्टर दानिश हुसैन ने भी ट्वीट करके विरोध जताया है।

सिंगर साशा तिरुपति उन विजेताओं में से हैं जिन्हें राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के हाथों सम्मान नहीं मिलेगा. साशा को मणिरत्नम निर्देशित फिल्म ‘कातरू वेलियेदई’ के सॉन्ग ‘वान वरुवान’ के लिए यह पुरस्कार दिए जाने की घोषणा हुई थी। साशा ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “पुरस्कार मिल रहा है लेकिन राष्ट्रपति से नहीं। सिर्फ 11 लोगों को ही राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित किया जाएगा।

अब बहुत ज्यादा अपमानित महसूस कर रही हूं। इसका पूरा रोमांच ही चला गया है। मैं बहुत एक्साइटेड थी। मेरे पिता वैंकूवर से आने वाले थे। शुक्र है कि वे नहीं आए।  किसी को भी जानकारी देने का समय नहीं था। हम यहां राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कार लेने आए थे न कि किसी सरकारी अधिकारी से। इस मसले पर अब पुरस्कार लेने वाले लोग ही गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।

 

Facebook Comments