बेटियों, आप जिस घर में शादी करके जाते हो जरूरी नहीं कि वह आपके घर जैसा ही हो

मेरा अनुरोध है आप सभी से इस पोस्ट को एक बार जरूर पढ़ें और अगर यह पोस्ट आपका दिल छू ले तो आप कमेंट में जरूर जवाब दें

हमारी यह पोस्ट उन बहन बेटियों के लिए है जो अपने गुरुर में अपने इंकार में अपने पति का घर छोड़ देती हैं और अपने पतियों को कम कमाई के ताने देती है उन हर बहन बेटियों से मेरा अनुरोध है जिनकी शादी हो गई और जिनकी शादी होने वाली है वह इस पोस्ट को एक बार जरूर पढ़ें।

बेटियों, आप जिस घर में शादी करके जाते हो जरूरी नहीं कि वह आपके घर जैसा ही हो।

हर घर में हर पति की इतनी कमाई नहीं रहती जितनी आपने आपके घर में पापा और भाई की देखी है।

आपको जो सुख सुविधा आपके मम्मी पापा के घर मिली यह जरूरी नहीं कि आप को पति के घर में भी मिले।

आज मैं सुबह उठा था ही और पास वाले शर्मा जी दिख गए मैं बोला शर्मा जी राधे कृष्णा शर्मा जी बोले सोनी जी राधे कृष्णा

मैं फिर बोला शर्मा जी आप कुछ उदास दिख रहे हो क्या बात है शर्मा जी उदास होकर बोले कि मेरी बेटी घर पर आकर बैठ गई मैं बोला शर्मा जी बेटी तो राखी पर आई हुई थी ना तो इसमें कौन सी बड़ी बात है।

शर्मा जी बोले नहीं सोनी जी बेटी हमेशा के लिए अपने पति को छोड़ कर आ गई और बोलती है मुझे तलाक दिलवाओ पापा।

मैंने फिर शर्मा जी से पूछा आपने आपकी बेटी से पूछा पति के यहां क्या प्रॉब्लम है उसे जो ऐसा कह रही है।

हां सोनी जी मैंने बेटी से पूछा बेटी कहती है papa आपके दामाद की कमाई कम है मेरे शौक पूरा नहीं कर पाता पापा अभी तो हम दोनों ही हैं मान लो और बच्चे होंगे तो फिर यह क्या कर पाएंगे इसलिए मुझे इस व्यक्ति के साथ नहीं रहना जिसकी कमाई कम हो।

मैंने जो बात शर्मा जी को कही वही बात में हर मां-बाप को कहना चाहता हूं आप सब सुन लीजिए।

अपने बच्चों को ऐसे संस्कार दीजिए अगर किसी की बेटी लाओ तो वह भी आपके घर में खुश और किसी को आप बेटी दो तो आपकी बेटी भी दूसरों के घर में खुश रहें।

अपने बच्चों को यह शिक्षा दो कि जो चीज आपको मां-बाप के समर्थन में मिल रही है वह जरूरी नहीं कि पति के समर्थन में भी मिलेगी।

अपने बच्चों को आप अच्छे से अच्छा भोजन कराते हो, अपने बच्चों को आप अच्छी से अच्छी चीज दिलाते हो, अपने बच्चों को अच्छे से अच्छी जगह घूमाते, फिर आते हो तो साथ में आप अपने बच्चों को यह भी शिक्षा दो कि कोई जरूरी नहीं कि यह सब उसको पति के घर जाकर भी मिलेगा।

कोई जरूरी नहीं कि पिता के घर में लाइट जाते ही इनवर्टर चालू हो जाता है तो पति के घर पर भी लाइट जाती है इनवर्टर चालू होगा।

कोई जरूरी नहीं कि मां बाप ने आपको जन्मदिन पर 15000 का गिफ्ट दिया तो पति भी आपके जन्मदिन पर आपको 15000 का गिफ्ट दिला देगा।

कोई जरूरी नहीं कि आप पिता के यहां कार में घूमते हो तो आप पति के यहां पर भी कार में घूमो हो सकता है वहां पर साइकल हो।

मैं शर्मा जी को बोलते जा रहा था और शर्मा जी सुनते जा रहे थे शर्मा जी बोले सोनी जी आपकी बात सही है मैं बेटी को यह ज्ञान नहीं दे पाया और शर्मा जी की आंखों से आंसू बहने लगे।

हम लोग इसीलिए सत्य लिखते हैं कि समाज में हर वर्ग में कुछ चीजें ऐसी हैं जो मां-बाप भी नहीं सोच पाते और ना अपने बच्चों को ज्ञान दे पाते हैं

मैं सिर्फ यह चाहता है कि किसी भी बहन बेटी का घर ना बिगड़े।

Facebook Comments