ये होते हैं फायदे हाथ से खाना खाने से आप भी जानें…..

क्या आप जानते हैं पुराने समय में लोगों के कम बीमार पड़ने के पीछे संतुलित और पौष्टिक भोजन के अलावा एक कारण ये भी था कि वे लोग हाथ से खाना खाते थे। दक्षिण भारत के ज्यादातर लोग हाथ से ही खाना खाते हैं। आयुर्वेद में भी हाथ से खाने के फायदे के बारे में बताया गया है। आज इस लेख में हम आपको हाथ से खाना खाने के फायदे और उसके पीछे के कारण के बारे में बताएंगे

 

मनुष्य का शरीर पांच तत्वों अग्नि, जल, हवा, आकाश और पृथ्वी से मिलकर बना हैं। इन्हें ‘जीवन ऊर्जा’ के नाम से जाना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार ये पांच तत्व हमारे हाथ की उंगलियों में उपस्थित रहते हैं और हमारे हाथ की पांच उंगलियां इन तत्वों की ही प्रतीक हैं। इसमें अंगूठा अग्नि का, तर्जनी उंगली वायु की, मध्यमा उंगली आकाश की अनामिका उंगली पृथ्वी की और सबसे छोटी उंगली जल की प्रतीक है।

माना जाता है कि इन तत्वों के असंतुलन से ही शरीर में बीमारियां होती हैं और हाथ से खाना खाने से शरीर में इन तत्वों का संतुलन बना रहता है और आप निरोग रहता है।

 

 

त्वचा हमारे शरीर की एक ज्ञानेन्द्री जो किसी चीज को स्पर्श करते ही उसके बारे में हमारे मस्तिष्क तक सूचनाएं पहुंचाती है। जब हम हाथों से खाना खाते हैं तो हमारा मस्तिष्क हमारे पेट को यह संकेत देता है कि हम खाना खाने वाले हैं। इससे हमारा पेट इस भोजन को पचाने के लिए तैयार हो जाता है जिससे पेट में पाचक रसों का स्त्राव होने लगता है और पाचन ठीक से होता है।

Facebook Comments