भाई के कत्ल की गवाह थी बहन, हत्या करने आए बदमाश पकड़े गए

दिल्ली के रोहिणी में महिला दिवस से ठीक पहले एक महिला की हत्या की साजिश का खुलासा हुआ।  पुलिस ने महिला की हत्या के लिए रोहिणी कोर्ट के पास पहुंचे दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। महिला हत्या के एक मामले में गवाह है और वह कोर्ट में गवाही देने आई थी। सूत्रों के मुताबिक 2008 में हरिय़ाणा के कुख्यात बदमाश रॉबिन ने मुन्ना नामक एक शख्स का कत्ल करवा दिया था और चिंतन उस कत्ल का चश्मदीद गवाह था। चिंतन मुन्ना का करीबी रिश्तेदार था। चिंतन की गवाही से रॉबिन पकड़ा गया और उसे जेल हो गई।

लेकिन रॉबिन ने जेल के अंदर से ही साजिश रची और चिंतन की हत्या करवा दी इस हत्या की चश्मदीद गवाह बनी चिंतन की बहन और उसका भाई। पुलिस के मुताबिक तभी से जेल में बंद रॉबिन चिंतन की बहन के कत्ल की साजिश रच रहा था लेकिन उसे मौका नहीं मिला। रॉबिन ने महिला के कत्ल के लिए अपने भाई मोहन और एक खतरनाक शूटर लोकेश को भेजा लेकिन पुलिस को इनकी साजिश की भनक लग चुकी थी। लिहाजा 7 मार्च के दिन जब मोहन और लोकेश महिला के कत्ल के इरादे से उसका पीछा कर रहे थे तभी दिल्ली पुलिस के जवानों ने उन दोनों धर दबोचा।

पुलिस ने दोनों के पास से तमंचे और कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबिक महिला अपने भाई की हत्या के मामले में गवाही देने आई थी। बदमाशों ने वापसी के वक्त उसकी हत्या प्लान बनाया था लेकिन पुलिस ने उनकी साजिश नाकाम कर दी।

Facebook Comments