होठों का कैंसर भारत में तेजी से फैल रहा है , आपके होठों में हो रहा है ऐसा तो तुरंत अस्पताल जाएं

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका पता लोगों को अचानक चलता है। इंसान को कब और किस तरह का कैंसर अपना शिकार बना ले कुछ नहीं कहा जा सकता है।

होंठ का कैंसर भी उन्हीं में से एक है। आज इस लेख में हम होंठ के कैंसर के बारे में बात करेंगे।

क्या है होंठ का कैंसर  : 
होंठ कैंसर असामान्य कोशिकाएं हैं, जो नियंत्रण से बाहर निकलती हैं। यह कैंसर होठों पर घावों या ट्यूमर के रूप में होती हैं। ये सबसे सामान्य प्रकार के मौखिक कैंसर हैं। ये कैंसर पतली, सपाट कोशिकाओं ( सेल ) में विकसित होते हैं, इसे हम स्क्वैमस सेल कगते हैं।

 

यह मौखिक कैंसर में आता है। कुछ जीवनशैली अपनाना जैसे धूम्रपान, शराब, धूम में ज्यादा रहना होंठ कैंसर के विकास के जोखिम को बढ़ाते हैं।
आमतौर पर दांतों के डॉक्टर नियमित दांत के चेकअप के दौरान होंठ के कैंसर के लक्षणों को पहली बार देखते हैं। होंठ के कैंसर का जल्दी पता लगाने के बाद उसका उपचार भी जल्दी हो पाता है।

 

होंठ के कैंसर के कारण : 
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल एंड क्रैनोफैशियल रिसर्च के अनुसार, होंठ के कैंसर के ज्यादातर मामलों में तम्बाकू उपयोग और भारी शराब का इस्तेमाल देखा गया है। सूर्य की रोशनी भी प्रमुख जोखिम कारक है, खासकर उन लोगों के लिए जो बाहर काम करते हैं क्योंकि वे लंबे समय तक सूर्य की रोशनी में रहते हैं। आइए विस्तार से इसके कारणों के बारे में जानते हैं…

 

  • 1. धूम्रपान या तम्बाकू उत्पादों का उपयोग करना ( सिगरेट, सिगार, पाइप, या चबाने वाला तंबाकू )
  • 2. ज्यादा से ज्यादा शराब का भारी उपयोग
  • 3. लंबे समय तक सूर्य के संपर्क में आना
  • 4. मानव पपिलोमावायरस ( एचपीवी ), एक यौन संचारित वायरस के साथ संक्रमण
  • 5. 40 वर्ष से अधिक उम्र का होना।

आपका व्यवहार और खराब जीवनशैली होंठ के कैंसर के लिए जिम्मेदार हैं। होंठ का कैंसर मुख्य रूप से तंबाकू के उपयोग से जुड़ा हुआ है।
जो लोग तम्बाकू और शराब दोनों का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें जो उन दोनों में से केवल एक का उपयोग करते हैं से खतरा ज्यादा रहता है।

 

होंठ कैंसर के लक्षण

  • 1. मुंह पर घाव, छाला, अल्सर या गांठ
  • 2. होंठ पर एक लाल या सफेद पैच
  • 3. होंठ से खून बहना या दर्द होना
  • 4. जबड़े की सूजन आदि

होंठ कैंसर का इलाज :
यदि आपके होंठ में कैंसर के संकेत या लक्षण हैं, तो आपको अपने डॉक्टर को देखना चाहिए। डॉक्टर संभावित कारणों की पहचान करने के लिए आपके होंठ और आपके मुंह के अन्य हिस्सों की शारीरिक परीक्षा करेंगे। इसके बाद इलाज के लिए अगला कदम उठाएंगे।

सर्जरी, रेडिएशन थेरेपी और कीमोथेरेपी आदि उपचार होंठ कैंसर के लिए उपलब्ध हैं। इसके अलावा अन्य संभावित विकल्पों में शामिल हैं टारगेटेड थेरेपी और जांच उपचार, जैसे कि इम्यूनोथेरेपी और जीन थेरेपी। यदि होंठ पर ट्यूमर छोटा है तो सर्जरी के माध्यम से उसे हटा दिया जाएगा। वहीं ट्यूमर बड़ा है तो रेडिएशन थेरेपी और कीमोथेरेपी का सहारा लिया जाएगा।

होंठ के कैंसर को कैसे रोका जाए :
होंठ के कैंसर को रोकने के लिए आपको सभी प्रकार के तम्बाकू के इस्तेमाल से बचना चाहिए। इसके अलावा अत्यधिक शराब के सेवन और ज्यादा समय तक धूम में रहने से भी बचना चाहिए। साथ ही, नियमित रूप से डॉक्टर से जांच करवाना चाहिए।

 

Facebook Comments