‘त्रिपुरा में हिंदू, मुस्लिम, ईसाई सब बीफ खाते हैं, बैन नहीं कर सकते’

उन्होंने आगे कहा, ‘यहां पर ज्यादातर मुस्लिम और ईसाई हैं, कुछ हिंदू भी हैं जो ये मांस खाते हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि उसपर कोई बैन नहीं होना चाहिए इसलिए त्रिपुरा में बीफ बैन नहीं है।’

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज कर आईपीएफटी के साथ मिलकर सरकार बना ली है। बिप्लब देब को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया है। इससे पहले 25 सालों तक कम्युनिस्ट पार्टी के मानिक सरकार सत्ता पर काबिज थे। बीजेपी की इस विराट जीत के पीछे बीजेपी के चुनाव प्रभारी सुनील देवधर का अहम रोल माना जाता है।

सुनील देवधर ने त्रिपुरा में बीफ बैन की बात पर कहा है कि जहां की जनता जिस प्रकार से चाहती है, सरकार उसी के हिसाब से काम करती है। बता दें कि त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से लगातार यह सवाल पूछा जा रहा है कि क्या बीजेपी त्रिपुरा में बीफ पर बैन लगाएगी?

त्रिपुरा में बीफ बैन होगा या नहीं, इस पर जवाब देते हुए सुनील देवधर ने कहा, ‘किसी राज्य में अगर बहुसंख्यक लोग बीफ नहीं खाना चाहते हैं तो वहां की सरकार उस पर बैन लगाएगी। नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में बहुसंख्यक लोग उसको खाते हैं तो वहां की सरकार उस पर प्रतिबंध नहीं लगाती है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘यहां पर ज्यादातर मुस्लिम और ईसाई हैं, कुछ हिंदू भी हैं जो ये मांस खाते हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि उसपर कोई बैन नहीं होना चाहिए इसलिए त्रिपुरा में बीफ बैन नहीं है।’

Facebook Comments