बीजेपी विधायक ने दिखाए बागवती तेवर, कहा- मोदी तुमने शर्म लिहाज सब धो दी

कुरूक्षेत्र से बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी ने बगावती तेवर अपनाते हुए रविवार को अपनी ही पार्टी पर निशाना साधा. सैनी ने कहा कि बीजेपी की न नीति है और न नियत है. सैनी ने तिगांव के प्राइमरी स्कूल में ‘लोकतंत्र बचाओ रैली’ को संबोधित करते हुए कहा कि देश के हालात इतने खराब है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर चुनाव लडऩे वाले 90 प्रतिशत उम्मीदवार चुनाव हारेंगे.

ओमप्रकाश और अभय चौटाला पर साधा निशाना
उन्होंने इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला तथा अभय चौटाला पर भी जमकर निशाना साधते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के रुप में जेल की सलाखों के पीछे सजा काट रहे लोग फिर से प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के सपने देख रहे है, लेकिन जनता ऐसे लोगों को पहले भी दुत्कार चुकी है और फिर दुत्कार देगी.

‘भाषणों से नहीं हटेगी बेरोजगारी’
सैनी ने कहा कि भाषणों से बेरोजगारी तथा गरीबी नहीं हटेगी बल्कि गरीबों के लिए जमीनी स्तर पर कार्य करना होगा. गरीबों के लगाातर हो रहे शोषण के चलते उन्होंने हरियाणा में बीजेपी से विमुख हो रहे गरीबों की आवाज बुलंद करने का वादा किया और कहा कि वह न किसी के कहने पर दबेंगे और न झुकेंगे बल्कि गरीबों के हकों की आवाज पुरजोर तरीके से उठाते रहेंगे.

2019 में अलग पार्टी बनाऊंगा
लोकतंत्र सुरक्षा मंच के अध्यक्ष राजकुमार सैनी पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि वह आगामी चुनाव में बीजेपी से टिकट नहीं मांगेगे बल्कि नए दल के साथ उतरेंगे. उन्होंने हाल ही में घोषणा की थी कि 2019 के आम चुनाव में वे अपनी अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ेंगे. सैनी का कहना है कि पिछड़ा वर्ग ने बीजेपी को शत प्रतिशत वोट देकर उसे सत्ता में बैठाया था लेकिन जब इस वर्ग की सुरक्षा की बारी आई तो यही बीजेपी सरकार विरोधियों के सामने घुटने टेकती नजर आई.

कांग्रेस पर भी साथ रहे निशाना
सैनी बीजेपी से तो नाराज हैं ही लेकिन कांग्रेस को भी खरी-खोटी सुनाने में पीछे नहीं है. वह एकला-चलो के सिद्धांत पर हैं. कुछ समय उन्होंने मीडिया में कहा था कि इंडियन नेशनल लोकदल और बसपा का गठबंधन पूरी तरह से बेमेल है. एक तरह से देखा जाए तो सैनी बीजेपी, कांग्रेस, इनेलो, बसपा से अलग अपनी जमीन तैयार करने में जुटे हैं. देखना होगा कि 2019 के चुनाव में उन्हें कितनी सफलता मिलती है

Facebook Comments