टाटा स्टील के कर्मचरियों को मिलेगा 203 करोड़ रुपये का बोनस

टाटा स्टील के कर्मचरियों को इस बार  203.24 करोड़ रुपये बोनस मिलेगा। इसमें जमशेदपुर प्लांट के कर्मचारियों को 106.36 करोड़ रुपये बोनस मिलेगा। यह 12.55 प्रतिशत होगा। कंपनी प्रबंधन और  टाटा वर्कर्स यूनियन के बीच बुधवार सुबह कंपनी बोर्ड रूम में बोनस समझौते पर हस्ताक्षर हुआ।

29 अगस्त तक खाते में राशि : वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए हुए इस बोनस समझौते में पुराने फार्मूले को नया रूप दिया गया है। पहली बार कलिंगानगर प्लांट को इसमें जोड़ा गया है। कर्मचारियों को बोनस मद में मुनाफा (4170 करोड़ के साथ असाधारण वस्तु मद में 2513 करोड़) 6682.49 का 1.5 प्रतिशत पर 100.24 करोड़, बिक्री योग्य स्टील (5461 रुपये प्रति टन) पर 36.5 करोड़, उत्पादकता में 475.1 कर्मचारी प्रति टन पर 57.5 करोड़ और सेफ्टी में 5 करोड़ मिले हैं। 199.24 करोड़ में चार करोड़ रुपये पिछले वर्ष मिले प्रधानमंत्री ट्राफी की राशि को जोड़ने पर बोनस राशि  203.24 करोड़ रुपये तक पहुंची।

बोनस की राशि जमशेदुपर प्लांट व कलिंगानगर सहित नोवामुंडी, झरिया, वेस्ट बोकारो, बेयरिंग, जामाडोबा, मार्केटिंग एंड सेल्स कोलकाता और सीआरसी वेस्ट मुंबई में कार्यरत कुल 26273 कर्मचारियों को मिलेगा। बोनस की राशि 29 अगस्त तक सभी कर्मचारियों के बैंक खातों में भेज दी जाएगी।

टाटा स्टील के कर्मचारियों को पिछले वर्ष की तुलना में 38.24 करोड़ रुपये ज्यादा बोनस मिलेगा। वर्ष 2016-17 में कर्मचारियों को 165 करोड़ मिला था तो  इस वर्ष यह बढ़कर 203.24 करोड़ हुआ है।  जमशेदपुर प्लांट मे पिछले वर्ष कर्मचारियों के हिस्से में जहां 97.96 करोड़ आये थे तो वहीं इस वर्ष 8.40 करोड़ की बढ़ोतरी के साथ यह बढ़कर 106.36 करोड़ होगा।

फार्मूले के लिहाज से इतना मिला बोनस
मुनाफा 6682.49 करोड़ का 1.5 प्रतिशत         100.24 करोड़
बिक्री योग्य स्टील (5461 रुपये प्रति टन)     36.5 करोड़
सलाना उत्पादकता 475.1 प्रति कर्मचारी प्रति टन    57.5 करोड़
सेफ्टी                    5 करोड़
प्रधानमंत्री ट्रॉफी                4 करोड़

Facebook Comments