फाइनल मैच के बीच में ही अपने बच्चे को स्तनपान कराने लगी ये Supermom

जब वो टूर्नामेंट में पहुंचीं तो उन्हें याद आया कि वो ब्रेस्ट पंप लाना भूल गई हैं.  जिसके बाद मैच में ब्रेक के दौरान वह ड्रेसिंग रूम पहुंची और अपने बच्चे को दूध पिलाने लगी.

माँ का दर्जा भगवान से भी ऊपर है और वो किस लिए है, इस बात का बखान करने में सातों समुद्र के जल की स्याही बनाकर यदि सारी धरती और ब्रह्माण्ड पर भी माँ की महिमा लिखी जाये, तो भी माँ के नाम और महानता को कोई नहीं लिख पायेगा, क्योकि माँ शब्द और उसकी महानता का बखान पूर्ण रूप से न तो अब तक कोई कर सका है और न ही कोई कर सकेगा. धरती पर एक मां ही ऐसी हस्ती है जो पूरी जिंदगी नि:स्वार्थ भाव से अपनी संतान के लिए हर तरह की कुर्बानी देने को हमेशा तैयार रहती है. ऐसी ही एक महिला हॉकी प्लेयर अपनों सपनों को पूरा करने के साथ-साथ अपने मां होने का ​कर्तव्य भी निभा रही है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक तस्वीर में यह महिला खिलाड़ी हॉकी मैच में ब्रेक के दौरान अपने 8 महीने के बच्चे को स्तनपान करा रही है. लोग इस महिला को ‘SuperMom’ बता रहे हैं. दरअसल ये महिला कनाडा के अलबर्टा शहर की टीचर और हॉकी प्लेयर सेराह स्मॉल हैं. सेराह ने एक टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था. जब वो टूर्नामेंट में पहुंचीं तो उन्हें याद आया कि वो ब्रेस्ट पंप लाना भूल गई हैं.  जिसके बाद मैच में ब्रेक के दौरान वह ड्रेसिंग रूम पहुंची और अपने बच्चे को दूध पिलाने लगी.

ये तस्वीर सेराह की मां ने क्लिक की है जिसे महिला खिलाड़ी ने सोशल मीडिया में खुद अपलोड किया. इस तस्वीर को लोग काफी पसंद कर रहे हैं. सेराह ने कहा कि इन तस्वीरों को सांझा करना मेरे लिए अच्छा अनुभव है क्योंकि मैं वह कर रही थी जो मुझे अपनी बेटी के साथ करना बेहद अच्छा लगता है. ये अकेला उदहारण नहीं है माँ शब्द अपने आप में ही महान है और हर काल में अपने आप को सार्थक करता रहा है.

Facebook Comments