कॉल सेंटर करें अपग्रेड, नोडल अभियंता को बनाएं जिम्मेदार

मध्यप्रदेश शासन के प्रमुख सचिव ऊर्जा आईसीपी केशरी ने शक्ति भवन में पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि उपभोक्ताओं की सुविधा की दृष्टि से कंपनी के कॉल सेंटर को अपग्रेड करते हुए यहां कार्यरत कर्मियों की संख्या और संसाधन बढ़ाए जाएं। मेंटेनेंस के पश्चात् किसी भी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित न हो। उल्लेखनीय है कि श्री केशरी दो दिवसीय प्रवास पर शनिवार को बिजली कंपनियों के मुख्यालय पहुंचे। प्रवास के पहले दिन उन्होंने पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी और सागर व रीवा क्षेत्र के कार्यों की समीक्षा की। इस मौके पर एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के एमडी व विद्युत वितरण कंपनियों के अध्यक्ष संजय कुमार शुक्ल ने कहा कि उपभोक्ताओं की बिजली आपूर्ति समस्याओं के समाधान व लाइन कर्मियों के उचित समन्वय के लिए वायरलेस सेट्स का उपयोग किया जाए।

वाट्सऐप का उपयोग-श्री केशरी ने कहा कि प्रत्येक डिवीजन या जिले में बिजली आपूर्ति संबंधी शिकायतों के समाधान के लिए एक नोडल अभियंता नियुक्त किया जाए। उन्होंने कहा कि नोडल अभियंता के वाट्सऐप मोबाइल नंबर की सूचना प्रत्येक उपभोक्ता को आवश्यक रूप से दी जाए।

तेजी से अर्जित करें लक्ष्य

श्री केशरी ने निर्देश दिए कि भविष्य में आयोजित होने वाल उपभोक्ता शिविर में सरल बिजली स्कीम के लिए पृथक से विशेष काउंटर लगाए जाएं और इस योजना का लाभ लेने वाले उपभोक्ताओं का विश्वास जगाए जाए।

बिल का डाटा डिजिटलाइज होगा

प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री केशरी ने निर्देश दिए कि सरल बिजली बिल का लाभ लेने वालों का पूरा डाटा तीन माह के भीतर डिजिटलाइज कर दिया जाए। डिजीटल डाटा में डिवीजन, डिस्ट्रीब्यूशन कोड उपभोक्ता के आईवीआरएस व श्रमिक आईडी टेग रहेगा। उन्होंने मैदानी अभियंताओं से कहा कि 25 अगस्त व 8 सितंबर को आयोजित होने वाली विशेष लोक अदालत का पंजीकृत श्रमिक, कर्मकारों व किसानों को व्यापक लाभ मिलना चाहिए।

Facebook Comments