आखिर क्यों कंपनियां बना रही है टैक्सी और फ्लीट सेगमेंट से दूरी ……

देश की टॉप कार कंपनी मारूति सुजुकी और हुंडई ने इसके लिए अलग रणनीति बनाई है. कंपनियों ने कुछ मॉडल्स को टैक्सी सेगमेंट के लिए अलग बैज दिया है ताकि इसे पर्सनल यूज बायर्स से अलग रखा जा सका.

होंडा कार्स अपनी नई अमेज को टैक्सी और फ्लीट सेगमेंट से दूर रखने की कोशिश कर रही है. टाटा मोटर्स ने अपनी दो नई कारों, टाइगर और टियागो को टैक्सी सेगमेंट से दूर रखा है. इस बारे में होंडा कार्स के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट और सेल्स और मार्केटिंग के डायरेक्टर राजेश गोयल ने बताया कि हम अमेज को सिर्फ पर्सनल बायर्स को ही बेचना चाहते हैं. हम इसे फ्लीट ऑनर्स को नहीं बेचना चाह रहे। नई अमेज 16 मई को लॉन्च की गई थी. पुरानी अमेज को टैक्सी और फ्लीट ऑनर्स ने काफी इस्तेमाल किया था, जिससे इसकी पर्सनल यूज बायर्स पर नकारात्मक असर पड़ा था और इसकी सेल प्रभावित हुई थी.

एक समय पर टैक्सियों के लिए अपनी गाड़ियों इंडिका और इंडिगो की मांग पूरा करने वाली टाटा मोटर्स भी 2016 में लॉन्च हुई टियागो और पिछले साल आई टाइगर को कमर्शियल इस्तेमाल के लिए नहीं बेच रही है. कंपनी ने कमर्शियल यूज के लिए जेस्ट और बोल्ट की सेल को बढ़ावा दिया है. हालांकि ऐसा कोई नियम नहीं है कि पर्सनल बायर अपनी कार का कमर्शियल इस्तेमाल ना करें, लेकिन फिर भी कंपनियां कुछ मॉडल्स को सिर्फ पर्सनल यूज के लिए ही बेच रही हैं.

 

 

Facebook Comments