खेती के लिए जमीन कम पड़ी तो घर की छतों पर बना दिया बगीचा

हमारे देश में किसानों की हालत से हर कोई वाकिफ है। मौसम की मार झेलने के बाद भी हमारे किसान अपना पेट काटकर दूसरे के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। लेकिन विदेशों में इस तरह के किस्से आमतौर पर नहीं देखने को मिलते, क्योंकि ज्यादातर देशों में मौसम फसल के लिहाज से अनुकूल रहता है। इसके साथ ही साथ latest machines और उपकरण से खेती करना आसान हो जाता है।

हां, दक्षिण एशिया के कई देश ऐसे हैं, जहां किसानों की हालत कुछ-कुछ भारत जैसी है। आज हम आपको पड़ोसी देश चीन के एक ऐसे गांव के बारे में बता रहे हैं, जो साल 2008 में भूकंप की वजह से 80 पर्सेंट तबाह हो गया था। लेकिन यहां सरकार और स्थानीय लोगों ने सिर्फ 9 साल के अंदर पूरे गांव का हुलिया और किस्मत दोनों बदल दी। आज इस पहाड़ों की गोद में बसे इस गांव में बड़ी-बड़ी बिल्डिंगें बनी हैं। भूकंप और फिर 2011 में हुई भारी बारिश और लैंड स्लाइड की वजह से यहां के ज्यादातर किसानों की जमीन बर्बाद गई थी।

चीन के सिचुआन प्रांत में स्थित जिंताई गांव में लोगों ने सरकार की मदद से ऐसे इको-फ्रेंडली घर बनाए हैं, जिनकी छत पर खेती की जा सकती है। कुछ सालों पहले तक इस गांव में लगातार भूकंप के झटकों आते रहते थे, जिससे गांव में रहने वाले लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। लेकिन, अब सरकार के नए प्रयोगों और यहां रहने वाला लोगों की मेहनत के दम पर जिंताई दुनिया के लिए एक आदर्श गांव की तरह उभर रहा है।

बताया जाता है कि 2008 में wenchuan प्रांत में आए भूकंप के चलते Jintai गांव के करीब 80 percent घर पूरी तरह से तबाह हो गए थे और इसकी वजह से हजारों लोग भी बेघर हो गए थे। इसके बाद साल 2011 में भारी बारिश और लैंडस्लाइड से गांववालों की दोबारा घर बनाने की मेहनत पर पानी फेर दिया। लोगों की दुर्दशा देख सरकार ने गांववालों की मदद के लिए University of Hongkong से ऐसे घरों का डिजाइन किया, जो भूकंप जैसी आपदाओं मे भी मजबूती से खड़े रहें और साथ ही साथ लोगों की जिंदगी भी आसान करे।

इसी आइडिया पर काम करते हुए सरकार ने गांव में 22 ऐसी Buildings तैयार की हैं, जिनकी छत पर खेती भी की जा सकती है। इन Buildings में लोग खाना उगाने के साथ-साथ अपने जानवरों को भी पाल सकते हैं। इसके अलावा घरों को भारी बारिश से बचाने के लिए Rain Water Harvesting की सुविधा भी दी गई है। पहाड़ों से घिरे इन घरों को ऐसा Desingh किया गया है कि इनके बाहर सड़कों पर ज्यादा से ज्यादा स्पेस छोड़ा जा सके, ताकि लोग Business को ठीक तरह से बढ़ा सकें।

Facebook Comments