अमानवीयता का शिकार हुई ये नवजात….

मामला मोहाली का है। महंगाई के इस दौर में दो बेटों व पत्नी का खर्च नहीं उठा पा रहे एक व्यक्ति अपनी नवजात बेटी को जन्म लेने के कुछ घंटे बाद ही बेचने की कोशिश की।

कुछ घंटे हुए थे दुनिया में आए कि अमानवीयता का शिकार हो गई नवजात। बाप ने ही उसके साथ ऐसी हरकत कर दी कि मां ये सब देख बेहोश हो गई।

हालांकि सरकारी अस्पताल डॉक्टर की होशियारी से वह ऐसा करने में कामयाब नहीं हो पाया और सलाखों के पीछे पहुंच गया। जबकि बच्ची को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ कर लिया है। उन्होंने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है। हालांकि इमरजेंसी में लगे कैमरे काम नहीं कर रहे थे। ऐसे में पुलिस को जांच आगे बढ़ाने में काफी मुश्किल हो रही है।

आरोपी की  पत्नी लोगों के घरों में झाड़ू पोछा करके कुछ पैसे कमा लेती है। लेकिन तबीयत ठीक न रहने के कारण वह ज्यादा काम नहीं कर पाती है। जैसे ही उसके घर बेटी पैदा हुई। आरोपी उसे प्लास्टिक बैग में लेकर घर से निकल पड़ा। इस दौरान पहले वह फेज-छह स्थित नामी प्राइवेट अस्पताल में गया, लेकिन वहां से भगा दिया गया। इसके बाद वह सरकारी अस्पताल पहुंचा। वहां पर थोड़ी देर इंतजार करने के बाद जगदीप सिंह बराड़ से मिला। उसने बताया कि उसे लड़का हुआ है, जिसे बेचने आया है।

उसने डॉक्टर को प्लास्टिक बैग में रखे बच्चे को दिखाया। बच्चा उस समय उल्टी करने लगा। डॉक्टर ने उसे बातों में उलझाकर पुलिस को बुलाया। साथ ही बच्चे का इलाज शुरू करवाया। पुलिस ने डॉक्टर की शिकायत पर आरोपी पिता के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। हालांकि पुलिस ने आरोपी की पत्नी को केस में नामजद नहीं किया है। हालांकि बच्ची को दूध पिलाने के लिए शाम में मां को बुलाया गया। पता चला है कि मां को सेक्टर-32 में भर्ती करवाया गया है।

 

Facebook Comments