आखिर कैसा होता है ‘Classy’ मर्द, कामासूत्र में सब लिखा है…यहां पढ़ें

महफ़िलों में औरतों को पुरुषों को शराब ऑफर करनी चाहिए. पुरुषों को शराब के साथ खाना चाहिए स्पाइसी और खट्टा चखना.

कामसूत्र को सिर्फ एक सेक्स मैनुअल मानना किताब के साथ नाइंसाफी है. सेक्स की 64 पोजीशंस के अलावा किताब ये भी सिखाती है कि सभ्य समाज में कैसे रहें. औरतों और पुरुषों के सोशल बिहेवियर के लिए लिखे हैं वात्स्यायन जी ने कुछ नियम. तो पढ़िए कि कामसूत्र के हिसाब से आदर्श पुरुष कैसा होता है.


1. गृहस्थ हो जाने के बाद पुरुष को पढ़े-लिखे लोगों में उठना बैठना चाहिए. उसके घर के पास पानी भरने की जगह होनी चाहिए, जिससे घर में हमेशा पर्याप्त पानी रहे. घर में एक बगीचा ज़रूर होना चाहिए. घर दो भागों में बंटा होना चाहिए. बाहर का हिस्सा गेस्ट्स के लिए और अंदर का घर की महिलाओं के लिए.

2. गेस्ट्स से मिलने वाला कमरा, यानी ड्रॉइंग रूम में होना चाहिए एक बेड जिस पर सफ़ेद चादर बिछी हो. कमरे में रूम स्प्रे ज़रूर मारें, यानी उसे रखें फूलों सा महकता हुआ. कमरा खुशबूदार फूलों से सजा हो. मेहमानों के लिए टेबल पर पान रखा हो. कमरे में बोर्ड, पेपर, ब्रश और रंग हों, जिससे फ्री टाइम में पेंटिंग की जा सके. पढने के लिए किताबें हों और खेलने के लिए कौड़ियां यानी लूडो टाइप गेम.

3. सुबह उठने के बाद पुरुष को अच्छे से ब्रश करना चाहिए. रोज़ नहाना चाहिए. परफ्यूम लगाना चाहिए. होंठ लाल रखने के लिए पान खाना चाहिए. नहाते वक़्त अंडरआर्म ज़रूर साफ़ करें, ऐसा लिखा है कामसूत्र में. चार दिनों में एक बार शेव ज़रूर करें.

4. पुरुष को दिन में तीन टाइम खाना चाहिए. लंच के बाद एंटरटेनमेंट में समय बिताना चाहिए. दोस्तों से मिलना चाहिए और विदूषक (पुराने जमाने के स्टैंडअप कॉमेडियन) के साथ रहना चाहिए. मतलब संगत अच्छी रखनी चाहिए.

5. पुरुषों को हमउम्र पुरुषों और स्त्रियों के साथ बातचीत कर टाइम पास करना चाहिए. बातचीत में अगर एक आदमी किसी कविता की एक लाइन फेंके, दो दूसरे को फटाफट उसे कैच कर पूरा करना चाहिए. इस तरह एक दूसरे का ज्ञान टेस्ट करना चाहिए. महफ़िलों में औरतों को पुरुषों को शराब ऑफर करनी चाहिए. पुरुषों को शराब के साथ खाना चाहिए स्पाइसी और खट्टा चखना.

Facebook Comments