2019 के लिए होने वाला स्वच्छता सर्वे की गाइडलाइन में नए बिंदुओं को शामिल किया गया ……

सार्वजनिक, व्यावसायिक और आवासीय क्षेत्रों की सफाई, वेस्ट स्टोरेज बिंस, लिटरबिंस और मटेरियल रिकवरी सुविधा, स्टॉर्म वाटर ड्रेन की सफाई और जलाशयों के सतह की सफाई जैसे बिंदुओं को गाइडलाइन में शामिल किया गया है.

इस बार स्वच्छता सर्वे के नतीजों में इंदौर और भोपाल क्रमशः पहले और दूसरे नंबर पर रहे है. अब अगले वर्ष के लिए होने वाले स्वच्छता सर्वे में पहले और दूसरे स्थान पर रहने के लिए और मेहनत करना होगी. दअरसल 2019 के लिए होने वाला स्वच्छता सर्वे की गाइडलाइन में नए बिंदुओं को शामिल किया गया है. इस गाइडलाइन में केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने बारह नए बिंदु निर्धारित किए है.

 

अगले साल होने वाले स्वच्छता सर्वे के लिए अब होटल, रेस्तरां तथा घरों और दुकानों सहित किसी भी स्थान पर लोगों को  गीला और सूखा कचरा अलग करके नहीं देने पर स्पॉट फाइन लगाया जाएगा. इसके लिए नगर निगम को पहले प्रस्ताव बनना होगा उसके बाद प्रस्ताव की मंजूरी के लिए इसे एमआईसी और परिषद को भेजा जाएगा. हालांकि इस तरह का नियम अभी तक किसी भी शहर में नहीं है. अभी नगर निगम द्वारा गिला और सूखा कचरा अलग करने के लिए केवल समझाया जाता रह है.

 

 

Facebook Comments